रायपुर : भूतपूर्व विधायकों ने मुख्यमंत्री से मिलकर आभार प्रकट किया : श्री बघेल ने नवा छत्तीसगढ़ गढ़ने मांगे सुझाव

 

पूर्व विधायकों के प्रतिनिधिमंडल ने आज यहां विधानसभा परिसर स्थित सेन्ट्रल हॉल में मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल से मुलाकात कर भूतपूर्व विधायकों की पेंशन और कुटुम्ब पेंशन की राशि में बढ़ोत्तरी तथा रेल, हवाई यात्रा और बोर्डिंग के लिए व्यय की सीमा बढ़ाने के राज्य सरकार के फैसले के लिए उनके प्रति आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत, विधानसभा के उपाध्यक्ष श्री मनोज मंडावी, कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, स्वास्थ्य एवं पंचायत मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, लोक यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार, भूतपूर्व विधायक दल के अध्यक्ष श्री स्वरूपचंद जैन सहित वरिष्ठ विधायकगण उपस्थित थे।

        उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री ने विधानसभा के वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट पर सामान्य चर्चा का कल सदन में जवाब देते हुए भूतपूर्व विधायकों की पेंशन 20 हजार रूपए से बढ़ाकर 35 हजार रूपए करने, कुटुम्ब पेंशन की राशि 10 हजार रूपए से बढ़ाकर 25 हजार रूपए करने की घोषणा की है। श्री बघेल ने भूतपूर्व विधायकों को रेल्वे कूपन, हवाई यात्रा की सुविधा के साथ बोर्डिंग की सुविधा भी उपलब्ध कराने और इसकी सीमा दो लाख रूपए से बढ़ाकर चार लाख रूपए करने की घोषणा भी की।

    मुख्यमंत्री ने सभी भूतपूर्व विधायकों को उनके स्वस्थ, सुदीर्घ और खुशहाल जीवन के लिए शुभकामनाएं दी। उन्होंने आग्रह किया कि सभी भूतपूर्व विधायक सार्वजनिक और राजनीतिक जीवन में सक्रिय रहें। छत्तीसगढ़ के विकास के लिए चिंतन-मनन करें और अपने बहुमूल्य सुझावों से समय-समय पर हमें अवगत भी कराते रहें। जिससें भूतपूर्व विधायकों के सुदीर्घ अनुभवों का लाभ छत्तीसगढ़ प्रदेश और यहां के निवासियों को मिलता रहे। श्री बघेल ने कहा कि राज्य सरकार भूतपूर्व विधायकों के मान-सम्मान के लिए हरसंभव काम करेगी। पेंशन में बढ़ोत्तरी के फैसले से भूतपूर्व विधायकों को बढ़ती महंगाई में अपने सार्वजनिक जीवन के दायित्वों की पूर्ति में सहूलियत होगी। उन्होंने छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है, जहां विधायकों और भूतपूर्व विधायकों को बोर्डिंग की सुविधा उपलब्ध कराने का निर्णय राज्य सरकार द्वारा लिया गया है। श्री बघेल ने कहा कि भूतपूर्व विधायक प्रदेश के विकास में अपना हरसंभव सहयोग प्रदान करें।

    विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने मंत्री, विधायक और सांसद के रूप में अपने अनुभवों को साझा किया और बताया कि भूतपूर्व होने पर किस तरह कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि आज का दिन आप लोगों को बधाई देने का दिन है। डॉ. महंत ने भूतपूर्व विधायकों से आग्रह किया कि वे छत्तीसगढ़ और छत्तीसगढ़ के निवासियों की प्रगति के लिए अपने अमूल्य सुझाव अवश्य साझा करें उन्होंने कहा कि नई सोच और नई ऊर्जा के साथ राज्य सरकार द्वारा समृद्ध, सुपोषित और स्वस्थ्य छत्तीसगढ़ गढ़ने का संकल्प लिया गया है। इसमें सभी की भागीदारी आवश्यक है। संसदीय कार्य मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने बड़ी संवेदनशीलता के साथ भूतपूर्व विधायकों की सुविधाएं बढ़ाने का निर्णय लिया।

क्रमांक-6215/सोलंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published.