इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय ने हासिल की एक और उपलब्धि

Jiwrakhan lal ushare cggrameen nëws
टिश्यू कल्चर प्रयोगशाला भारत सरकार द्वारा प्रमाणीकृत

रायपुर, 12 मार्च, 2020। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय ने एक और उपलब्धि हासिल की है। विश्वविद्यालय द्वारा संचालित टिश्यू कल्चर प्रयोगशाला को भारत सरकार के जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा टिश्यू कल्चर पौधों के उत्पादन हेतु प्रमाणीकृत किया गया है। यह प्रमाणीकरण प्रयोगशाला द्वारा टिश्यू कल्चर पौधों के मानक तकनीक से उत्पादन करने के लिए दिया गया है। टिश्यू कल्चर प्रयोगशाला को आगामी दो वर्षों हेतु प्रमाणीकृत किया गया है। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर के टिश्यू कल्चर प्रयोगशाला में मानक तकनीक से उत्पादित पौधे नियत उत्पादन क्षमता के साथ-साथ रोगों व कीटों से मुक्त पौधों का उत्पादन वृहद स्तर पर किया जा रहा है।
उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत् सन् 2010 में स्थापित एवं इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, रायपुर को सन् 2014 में स्थानांतरित टिश्यू कल्चर प्रयोगशाला के द्वारा केला, गन्ना एवं अन्य पौधों का उत्पादन वर्ष 2016-17 से किया जा रहा है। प्रयोगशाला की उत्पादन क्षमता 10 लाख पौधा प्रति वर्ष की है, जिसमें वर्तमान में व्यावसायिक उत्पादन के साथ-साथ छात्रों का प्रायोगिक कार्य, कई फसलों जैसे – ऐलोवेरा, जरबेरा, स्टाॅबेरी एवं आर्किड का टिश्यू कल्चर पौधा उत्पादन का प्रोटोकाॅल भी तैयार किया गया है। वर्तमान में केन्द्र द्वारा केला के G-9, उद्यम, रस्थाली इत्यादि एवं गन्ना में Co-86032, दामोदर, प्रभा, श्यामा, CJ-85 इत्यादि किस्मों का उत्पादन किया जा रहा है। केन्द्र द्वारा उत्पादित पौधे छत्तीसगढ़ शासन के विभिन्न योजनाओं के तहत् हितग्राही किसानों को प्रदान किए जा रहे हैं एवं किसानों को विक्रय हेतु भी उपलब्ध हैं।

(संजय नैयर)
सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.