हेल्पलाइन 104 में रोजाना 6,000 लोग फोन कर पूछ रहें कोरोना का इलाज


रायपुर, 21, मार्च 2019। छत्तीसगढ सरकार की कोरोना हेल्पलाइन पर रोजाना लगभग 6000 लोग फोन कर रहे हैं। कॉल करने वाले लोग कोरोना का इलाज और बचाव के बारे में नजदीक के स्वास्‍थ्‍य केंद्र व डॉक्टर उपलब्ध होने की जानकारी लेते हैं, और इस बीमारी के रोकथाम के लिए प्रवास में जाने वाले लोगों के बारे में भी गुप्त सूचना भी बता रहे हैं। इतना ही नहीं, हेल्पलाइन नंबर 104 में फोन कर परिजन भी होम क्वारंटाइन के बारे में जानकारी दे रहे हैं। कोरोना वायरस से बचाव के प्रति लोगों में जागरुकता बढऩे से सामान्य सर्दी खांसी होने पर भी हेल्पालाइन से सलाह लेकर अस्पताल पहुंच रहे हैं।
स्‍वास्‍थ्‍य विभाग के उपसंचालक व डायल 104 हेल्प लाइन के प्रभारी डॉ. अखिलेश त्रिपाठी ने बताया सामान्य  दिनों से 150 गुना ज्यादा कॉल हेल्पलाइन नंबर पर आ रहे हैं जिसमें 99 प्रतिशत कॉल कोरोना वायरस को लेकर जानकारी लेने के लिए किये जा रहा है। 
कोरोना वायरस के इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए 24 घंटे तीन पालियों में कंट्रोल रुम में 30 कॉलर फोन अटेंड कर रहे हैं। लोगों को भाषा में कोई समस्या न हो इसके लिए कॉलर से हिंन्दी, अंग्रेजी व छत्तीसगढ़ी भाषा में बात करने का विकल्प पहले पूछा जाता है। सबसे ज्यादा कॉल राजधानी रायपुर से 2000 से अधिक लोगों द्वारा किये जा रहे है। शुक्रवार को रात 9 बजे तक 5800 कॉल आए थे जबकि आज शाम 4 बजे तक 4020 से अधिक लोगों ने हेल्‍प लाइन नंबर से सहायता मांगी है। प्रदेशभर से एक साथ सैकडों की संख्या में फोन आने पर कई कॉल अटेंड नहीं होने से वेटिंग में चला जा रहा है |
स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने इस समस्या  को देखते हुए केंद्र सरकार की हेल्पलाइन नंबर 1075 में कॉल डावर्ट कर लोगों की समस्याओं से जुड़े सवालों का जवाब दे रहे हैं। सबसे अधिक फोन कॉल ऐसे लोगों की आ रही हैं, जिन्होंने हाल ही में देश में या देश के बाहर हवाई सफर किया है। सफर करने वाले जांच करवाना चाहते हैं हेल्पलाइन पर कॉल करने वाले लोगों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने हाल ही में कहीं सफर किया है या सफर करने वाले हैं। खासकर एयरपोर्ट से आने-जाने वाले लोग खुद कॉल कर पूछ रहे हैं कि वह कोरोना की जांच कहां करवाएं, कितने पैसे में जांच होगी, और जांच में कितना समय लगेगा। कई कॉल ऐसी भी आईं हैं जिनमें लोगों ने पूछा है उनके बच्चे दूसरे देशों में फंसे हैं, सरकार उन्हें निकालने के लिए क्या कर रही है। हेल्पलाइन पर बड़ी संख्या में ऐसे लोगों का भी कॉल आ रहा हैं, जिन्हें सामान्य खांसी, जुखाम या बुखार है।
प्रदेश में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर स्वास्थ्य विभाग द्वारा रोज शाम को बुलेटिन जारी किया जा रहा है। इसे विभाग की वेबसाइट cghealth.nic.inपर प्रतिदिन देखा जा सकता है। इसके अलावा हेल्पलाइन नंबर 104 पर 24 घंटे  जानकारी ली जा सकती है। कार्यालयीन समय पर राज्य सर्विलांस इकाई के हेल्पलाइन फोन नंबर 07712235091 पर फोन कर जानकारी ली जा सकती है। इसके अलावा ईमेल आईडी cgepidemic@gmail.comपर ईमेल कर भी कोरोना वायरस के संबंध में अपडेट लिया जा सकता है।
राजधानी के चंगोराभाठा शहरी प्राथमिक स्वास्‍थ्‍य केंद्र चिकित्सा प्रभारी डॉ. ज्यो‍तिश टंडन ने बताया  अस्‍पताल में सुबह-शाम ओपीडी में लगभग 200 मरीज पहुंच रहे हैं। इनमें ज्यादातर लोग मौसमी सर्दी खांसी के मरीज हैं। उन्होंमने बताया सामान्य खांसी में भी लोग कोरोना की जांच करवाना चाहते हैं। जबकि डॉ टंडन का कहना है  इस मौसम में अचानक बारिश बदली व धूप से तापमान में उतार व चढ़ाव होने से अकसर खांसी-जुखाम-बुखार के मामले बढ़ जाते हैं।  इस बार कोरोना के चलते लोगों में सामान्य बुखार से भी लोग सीधे अस्पताल पहुंच रहे हैं।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.