बड़ी राहत। ईएमआई 3 महीने का छूट सभी तरह के लोन भी सस्ते हुए

निजी फाइनेंस कंपनी ,बैंक , और कम्पनियां आजकल वाहन , हाउस लोन , टर्म लोन ,व्यापार के भुगतान अन्य #EMI एवं ऋण के भुगतान को #ACH के द्वारा कर्जदार व्यापारी के खाते में बैलेंस होने पर ले लेती है , ACH मतलब ऑटो क्लीयरिंग हाऊस में उपभोक्ता की लिखित सहमति से हर माह उपभोक्ता के खाते से बगैर चेक के ही सीधे बैंक को ऑनलाइन सम्पर्क और ऑटो जनरेट के द्वारा ले लेती है !

लॉकडाउन के दरमियान अगर कोई मध्यम वर्गीय रिजर्व फंड रखा है खाते में तो उसे #ACH से बैंक , निजी कम्पनियां न ले या उवभोक्ता की सहमति से ले ऐसा कोई दिशा निर्देश आज @RBI ने नही दिया है ?

ईस पर चेम्बर ऑफ़ इंडस्ट्रीज एंड कॉमर्स और व्यपारी संघ शासन का ध्यान आकृष्ट करवाये ! रिजर्व बैंक आफ इंडिया के गवर्नर ने प्रेस कान्फ्रेंस में ये घोषणा की है कि इन तीन महीने में ब्याज नही लगेगा या कोई भुगतान न कर पाए तो उसे छूट दी जाए या वसूली को टालने की सलाह दी है !

मोदी #नरेंद्रमोदी #Modi #NarendraModi #NirmalaSitaraman #RBI #RBIGoverner #निर्मलासीतारमण #रिजर्वबैंकऑफइंडिया #आरबीआई #लॉकडाउन #LockDown #IndiaFightsCorona #Corona #कोरोना

Leave a Reply

Your email address will not be published.