अदाणी फाउंडेशन ने रायगढ़ में पुलिस एवं स्वास्थ्य कर्मियों के लिए स्थापित किए सैनिटाइज़ेशन टनल

रायगढ़: अदाणी एंटरप्राइज़ेज़ लिमिटेड के सहयोग से अदाणी फाउंडेशन ने रायगढ़, छत्तीसगढ़ में 2 सैनिटाइज़ेशन टनल की स्थापना की। कोरोना संक्रमण से पुलिस एवं स्वास्थ्य कर्मियों को आवश्यक सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से स्थापित ये टनल पुलिस अधीक्षक ऑफ़िस तथा तमनार अस्पताल के बाहर लगाए गए हैं। कोविड-19 के कारण देश भर में लगे लॉकडाउन के बीच भी जनता को ज़रूरी सेवाएं प्रदान करने के लिए पुलिस तथा स्वास्थ्यकर्मी दिन-रात कठिन परिश्रम कर रहे हैं ऐसे में उन्हें संक्रमण मुक्त रखने में ये टनल सहायक होंगी। सैनिटाइज़ेशन टनल की स्थापना के बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक वर्मा ने टनल का मुआयना भी किया तथा अदाणी फाउंडेशन के ज़िम्मेदार क़दम की सराहना भी की।

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लॉकडाउन लगा है तथा पुलिस यह सुनिश्चित कर रही है कि लोग गंभीरता से लॉकडाउन के नियमों का अनुपालन करें। राष्ट्र सुरक्षा में निहित काम करने वाले ये सुरक्षा एवं स्वास्थ्यकर्मी रोज़ाना कई लोगों के संपर्क में आते हैं तथा उनके संक्रमित होने का ख़तरा भी बढ़ता है। जनता को संपूर्ण सुरक्षा एवं आवश्यक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाले इन जांबाज़ कर्मचारियों के लिए अदाणी फाउंडेशन ने पुलिस अधीक्षक के ऑफिस के बाहर सैनिटाइज़ेशन टनल लगाने का फ़ैसला लिया। ड्यूटी पर जाने वाले हर पुलिसकर्मी को इस टनल से होकर गुज़रना है ताकि वे पूरी तरह सैनिटाइज़ हो सकें। ड्यूटी के बाद घर जाने से पहले भी इस टनल का उपयोग करना आवश्यक है। रायगढ़ में दूसरा सेनिटाइज़ेशन टनल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, तमनार के बाहर लगाया गया है जिससे मरीज़ों एवं स्वास्थ्य-कर्मियों को सेनिटाइज़ कर संक्रमण फैलने से रोका जा सकता है।

इन टनल को बनाने के लिए अदाणी फाउंडेशन ने स्थानीय नर्सरी का सहयोग लिया तथा आधुनिक तकनीक की मदद से इसकी संरचना हुई है। इस टनल में ढेर सारे नोज़ल लगे हुए हैं जिनमें से सेनिटाइज़र निकलता है। साथ ही नोज़लों में ख़ास फ़िल्टर भी लगाए गए हैं ताकि इस प्रक्रिया में किसी प्रकार की रुकावट न हो। टनल बनाने के लिए स्थानीय स्तर पर उपलब्ध सामान एवं मानव ऊर्जा का उपयोग किया गया है जिसके कारण अदाणी फाउंडेशन ने ये टनल बहुत जल्दी तैयार कर लिए।

रायगढ़ में कोविड-19 के संक्रमण को रोकने तथा कोरोना वायरस से लड़ने के लिए अदाणी फाउंडेशन ने इससे पहले भी विभिन्न तरीक़ों से सहायता प्रदान की है। लॉक डाउन के दौरान हाइवे पर भी दुकानें बंद हैं और ट्रक ड्राइवरों को ख़ासा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उनकी समस्या को दूर करने की कोशिश में अदाणी फाउंडेशन ने हाइवे पर पीने के पानी का फ़िल्टर लगाया है। वैश्विक महामारी के इस कठिन दौर में गाँवों में मास्क, साबुन सैनिटाइज़र एवं खाद्य सामग्री पहुंचाने के साथ साथ ग़रीबों तथा ज़रूरतमंदों को रोज़ाना राशन के पैकेट देकर अदाणी फाउंडेशन ने अपनी सामाजिक ज़िम्मेदारी का परिचय दिया है।

अदाणी फाउंडेशन के बारे में:
1996 में स्थापित, अदाणी फाउंडेशन वर्तमान में 18 राज्यों में सक्रिय है, जिसमें देश भर के 2250 गाँव और कस्बे शामिल हैं। फाउंडेशन के पास प्रोफेशनल लोगों की टीम है, जो नवाचार, जन भागीदारी और सहयोग की भावना के साथ काम करती है। वार्षिक रूप से 3.2 मिलियन से अधिक लोगों के जीवन को प्रभावित करते हुए अदाणी फाउंडेशन चार प्रमुख क्षेत्रों- शिक्षा, सामुदायिक स्वास्थ्य, सतत आजीविका विकास और बुनियादी ढा़ंचे के विकास, पर ध्यान केंद्रित करने के साथ सामाजिक पूंजी बनाने की दिशा में काम करता है। अदाणी फाउंडेशन ग्रामीण और शहरी समुदायों के समावेशी विकास और टिकाऊ प्रगति के लिए कार्य करता है, और इस तरह, राष्ट्र-निर्माण में अपना योगदान देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.