चावल से सैनिटाइजर बनाने का राहुल गांधी विरोध कर रहे, लेकिन छत्तीसगढ़ के दो मंत्री केंद्र के समर्थन में उतरे….!!

By Jiwrakhan lal ushare cggrameen nëws

रायपुर – केंद्र सरकार ने चावल से एल्कोहल बनाकर सैनिटाइजर बनाने की अनुमति दी है। इस पर कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर विरोध जताया। जबकि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार के मंत्री इस निर्णय पर केंद्र में समर्थन में खड़े हो गए हैं। गौरतलब है कि कि राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में केंद्र सरकार के इस निर्णय को गरीबों का हक मारने वाला बताया। राहुल ने ट्वीट कर कहा कि हिंदुस्तान का गरीब कब जागेगा। आप भूखे मर रहे हैं और वह आपके हिस्से के चावल से सैनिटाइजर बनाकर अमीरों के हाथ की सफाई में लगे हैं। कांग्रेस के बड़े नेता के बयान के विपरीत छत्तीसगढ़ सरकार के कैबिनेट मंत्री रविंद्र चौबे और अमरजीत भगत केंद्र के समर्थन में उतर गए। दोनों मंत्रियों ने केंद्र की अनुमति को राज्य सरकार की कामयाबी करार दिया।

दरअसल, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल केंद्र सरकार से लगातार यह मांग कर रहे थे कि चावल से बायोफ्यूल बनाने की अनुमति दी जाए। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्रालय की कमेटी ने चावल से एथेनॉल बनाकर उसका सैनिटाइजर बनाने की अनुमति दे दी है।

राहुल गांधी के विरोध के बाद भूपेश सरकार के दो मंत्रियों के समर्थन पर सियासी गलियारे में चर्चाओं का बाजार गरम है। कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने इस फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए इसे राज्य सरकार की कामयाबी बताया।

चौबे ने मीडिया से चर्चा में केंद्र के फैसले को सही ठहराया और कहा कि राज्य की मांग एक तरह से आंशिक रूप से पूरी हो गई है। राज्य एथेनॉल से बायो फ्यूल बनाने की मांग लंबे समय से कर रहा है। अब केंद्र ने एफसीआई को इसकी अनुमति देकर राज्य के लिए रास्ता खोल दिया है।

वहीं, खाद्य मंत्री अमरजीत ने बताया कि राज्य सरकार लंबे समय से मांग कर थी कि केंद्र सरकार चावल से एथेनॉल युक्त बायोफ्यूल बनाने की मंजूरी दे। अब एफसीआइ को इसकी इजाजत मिलने के बाद वे छत्तीसगढ़ को भी इसकी इजाजत देने की मांग करेंगे। भगत ने कहा कि अगले एक साल तक गरीबों को पीडीएस के माध्यम से चावल का सरकार ने इंतजाम किया है। इसके बाद केंद्रीय नेतृत्व से जो गाइडलाइन आएगी, उसका पालन किया जाएगा।

महुआ बनाया गया सस्ता सैनिटाइजर

छत्तीसगढ़ में बहुतया मात्रा में मिलने वाले सस्ते अल्कोहलिक सैनिटायजर बनाने की पहल करने वाले जशपुर कलेक्टर नीलेश क्षीरसागर के प्रयासों से सराहना मिल रही है। जिसे बनाने में युवा वैज्ञानिक सामर्थ्य जैन का विशेष योगदान रहा ! इस उपलब्धि को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने ट्वीट किया-आवश्यकता अविष्कार की जननी होती है। जशपुर की महिलाओं ने महुआ से हर्बल हैंड सैनिटाइजर   बनाया है। यह कोरोना से लड़ाई में बहुत उपयोगी साबित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.