माल्या, नीरव मोदी से लेकर चोकसी तक राहुल के आरोपों पर वित्त मंत्री ने दिया पूरा हिसाब

खबरे

Published  Jiwrakhan lal ushare cggrameen nëws

Nirmala Sitharaman@nsitharaman · 14hReplying to @nsitharaman

Bank-wise details of aggregate funded amount outstanding & amount technically/prudentially written off, pertaining to top fifty wilful defaulters was provided as an annex to the answer to Lok Sabha starred question *305 of Shri. @RahulGandhi on 16.3.2020.

Nirmala Sitharaman@nsitharaman

Earlier, on 18.11.2019, in the Lok Sabha for an unstarred Question no:52, a list of “Borrowers flagged as wilful defaulter by Public Sector Banks under CRILIC reporting as on 30.09.2019 (For borrowers with exposure of Rs. 5 crore and above, Global operations) was provided.4,45410:58 PM – Apr 28, 2020Twitter Ads info and privacy1,625 people are talking about this

Nirmala Sitharaman@nsitharaman · 14hReplying to @nsitharaman

…while private sector banks were getting out. RBI could have raised more flags about the quality of lending…” RR Rajan.(Source: @IndiaToday Sept 11,2018 and many other print& electronic media). From 2015, PSBs were asked by GoI to check all NPAs >50 crore for wilful default.

Nirmala Sitharaman@nsitharaman

Nirav Modi Case : Immovable and movable properties worth more than Rs 2387 Crore attached/seized.( Attachment Rs 1898 Crore and Seizure Rs 489.75 Crore) . This includes foreign attachments of Rs 961.47 Crore. Auction of luxury items for Rs 53.45 Crore. He is in prison in the UK.4,72210:58 PM – Apr 28, 2020Twitter Ads info and privacy1,920 people are talking about this

राहुल के आरोपों पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिया पूरा हिसाब,

देश के कई बड़े पूंजीपतियों के 68,000 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज बट्टे खाते में डाले जाने पर सियासत तेज हो गई है। बैंकों का कर्ज नहीं लौटाने वाले जिन 50 बड़े कर्जदारों और भगोड़ों का कर्ज माफ किया गया है, उन्हें लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोला, जिसके बाद वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने पलटवार किया और जवाब दिया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस द्वारा लगाए गए आरोपों पर कहा कि उनकी सरकार ने डिफॉल्टर्स के खिलाफ एक्शन लेकर काफी पैसों की वसूली की है। इसके लिए वित्त मंत्री ने मेहुल चोकसी, नीरव मोदी से लेकर विजय माल्या तक का पूरा हिसाब अपने ट्वीट में दिया है।मंगलवार की देर रात कुछ ट्वीट कर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सरकार पर लगे आरोपों पर जवाब दिया और कहा कि राहुल गांधी और रणदीप सुरजेवाला देश के लोगों को गुमराह कर रहे हैं। निर्मला सीतारमण ने मेहुल चोकसी केस के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने बड़ा ऐक्शन लेते हुए भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी की करीब 2387 करोड़ रुपये (1898 करोड़ जब्त और 489.75 करोड़ सीज) की चल-अचल संपत्ति को भी सरकार ने जब्त या सीज किया है। इसमें 961.47 करोड़ की विदेशी संपत्ति भी शामिल है। वित्तमंत्री ने कहा कि नीरव मोदी फिलहाल यूके की एक जेल में है।मेहुल चोकसी को लेकर वित्त मंत्री ने आगे कहा कि चोकसी की 1936 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति को जब्त किया है, जिनमें 67.9 करोड़ रुपये की विदेशी संपत्ति भी शामिल है। इसके अलावा 597.75 करोड़ की प्रॉपर्टी को सीज करते हुए मेहुल चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया जा चुका है। इसके अलावा, मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण के लिए एंटीगुआ को एक अर्जी भेजी जा चुकी है और उसे भगोड़ा घोषित करने की प्रक्रिया भी जारी है।उद्योगपति विजय माल्या पर भी की गई कार्रवाई की जानकारी देते हुए निर्मला सीतारमण ने एक अन्य ट्वीट में बताया कि अब तक विजय माल्या की करीब 8040 करोड़ रुपये की संपत्ति को अटैच और 1693 करोड़ सीज किया गया है। विजय माल्या को भगोड़ा घोषित करते हुए प्रत्यर्पण की अर्जी दी गई है। उन्होंने एक और ट्वीट में कहा कि यह मोदी सरकार ही है, जिसने ऐसे विलफुल डिफॉल्टर्स पर एक्शन शुरू किया है। हमारी सरकार ने 9967 रिकवरी सूट और 3515 एफआईआर दर्ज किए हैं। इसके अलावा, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और विजय माल्या के मामलों में करीब 18332 करोड़ रुपये की संपत्ति अटैच या सीज की जा चुकी है।वित्त मंत्री ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर हमला बोला और कहा कि इस बात पर उन्हें आत्मचिंतन करने की जरूरत है कि वह अपने कार्यकाल में सिस्टम की सफाई का काम क्यों नहीं कर पाए। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस ने सत्ता और विपक्ष दोनों तरफ रहते हुए भ्रष्टाचार खत्म करने की कोई प्रतिबद्धता नहीं दिखाई।राहुल गांधी ने क्या आरोप लगाया था कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने सरकार से बैंक घोटालेबाजों के नाम पूछे थे लेकिन संसद में इन कर्जदारों के नाम छिपाए गये हैं। राहुल ने ट्वीट किया ‘संसद में मैंने एक सीधा सा प्रश्न पूछा था- मुझे देश के 50 सबसे बड़े बैंक चोरों के नाम बताइए। वित्तमंत्री ने जवाब देने से मना कर दिया। अब रिजर्व बैंक ने नीरव मोदी, मेहुल चोकसी सहित भाजपा के ‘मित्रों’ के नाम बैंक चोरों की लिस्ट में डाले हैं। इसीलिए संसद में इस सच को छुपाया गया।’इससे पहले कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला ने मंगलवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि रिजर्व बैंक ने 24 अप्रैल को सूचना के अधिकार-आरटीआई के तहत जानकारी दी है कि बैंकों का कर्ज नहीं लौटाने वाले जिन 50 बड़े कर्जदारों और भगोडों का कर्ज माफ किया गया है उनमें विजय माल्या, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और जतिन मेहता जैसे बड़े घोटालेबाज शामिल हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.