530 बैगा आदिवासी परिवारों को मिले नए राशन कार्ड

भिन्न छत्तीसगढ़

Jiwrakhan lal ushare cggrameen nëws

,  11 May , 2020 05:58 PM
530 बैगा आदिवासी परिवारों को मिले नए राशन कार्ड

रायपुर/कबीरधाम। छत्तीसगढ़ सरकार लॉकडाउन में न सिर्फ लोगों को राशन उपलब्ध करा रही है,बल्कि लोगों को भोजन संबंधी कोई परेशानी न हो इसके लिए नए राशन कार्ड भी बना रही हैं। दूर-दराज बसे पिछड़ी आदिवासी जनजातियों तक जरूरी खाद्य सामग्रियों की पहुंच के लिए संवेदनशीलता से निर्णय किए जा रहे हैं। इस कड़ी में कबीरधाम जिले के आदिवासी बैगा बाहुल्य पंडरिया विकासखण्ड की विशेष पिछड़ी बैगा जनजाति की मांग के महज 7 दिनों के भीतर 530 परिवारों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत नए राशन कार्ड बनाये गये । बैगा जनजाति के कई लोग शादी के बाद अपने मूल परिवार से अलग रह रहे थे। इन नये परिवारों को राशन की आवश्यकता को देखते हुए उन्हें नये राशन कार्ड बनाकर दिये गये हैं। इससे अब उनकी राशन संबंधी समस्या दूर हो गई है। इस राशन कार्ड के माध्यम से बैगा परिवारों को प्रत्येक माह 35 किलो चावल और नमक,शक्कर और अन्य समाग्री मिलेगी।कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने लॉक डाउन के दौरान पंडरिया विकासखण्ड के बैगा बहुल रूखमीदार सहित अन्य गांवो का भ्रमण किया था। इस दौरान बैगा परिवारों के राशन की मांग पर प्रशासन ने पंडरिया विकासखण्ड के जरूरतमदं बैगा परिवारों के लिए 40 क्विंटल चावल वितरण कराया गया था। बैगा परिवारों ने नया राशन कार्ड बनाने की मांग भी की थी। बैगा परिवारों की मांग को संवेदनशीलता से लेते हुए ऐसे परिवार जो वास्तविक में इस योजना हकदार है, जिनके पास राशन कार्ड नहीं है उन्हें ग्रामवार सर्वे कराकर पीडीएस वितरण प्राणाली योजना में शामिल किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.