कोविड-19 के समय रायपुर रेल मंडल का पीपीयाई भिलाई रेल परिचालन के लिए किये समर्पित

रायपुर- 13 मई, 2020/ पीआर/आर/ 70

  रायपुर रेल मंडल के आर ओ एच डिपो पीपीयार्ड,भिलाई भारतीय रेल द्वारा की जा रही माल परिवहन में एक अहम भूमिका अदा कर रही है । भले ही अभी सवारी गाड़ियों का न्यूनतम संचालन हो रहा है, पर रेलवे द्वारा विभिन्न आवश्यक वस्तुओं का परिवहन पूरी क्षमता से किया जा रहा है और आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता भारत के समस्त बाजारों में सुनिश्चित करने के साथ ही समस्त पावर प्लांट को निर्वाध कोयले की आपूर्ति भी की जा रही है। इस कार्य में पीपीयाई भिलाई के अधिकारी पर्यवेक्षक और कर्मचारी जीवट और पूरी कर्तव्यनिष्ठा से अपना योगदान दे रहे हैं। यहां से रोजाना लगभग 14-15 माल गाड़ियों को अनुरक्षण (मरम्मत) करके लदान हेतु भेजा जाता है ।

डिपो के वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर ने बताया कि इस दौरान पूरे कार्य सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुरूप ही किए जा रहे है, सभी कर्मचारियों का ड्यूटी में आने पर नॉनकॉन्टैक्ट थर्मामीटर के दवारा थर्मल स्क्रीनिंग की जाती है और इसको दर्ज किया जाता है।

सभी कर्मचारियों को मास्क भी निःशुल्क प्रदान किए जा रहे है, इनमें से लगभग 2500 यही के कर्मचारियों द्वारा या उनके परिजनों द्वारा बनाए गए हैं और अभी भी लगातार यह कार्य वर्क फ्रॉम होम के तहत किया जा रहा है।

सभी कार्य स्थल पर हैंड सैनिटाइजर का प्रबंध किया गया है जिसका इस्तेमाल कर्मचारी अपने कार्य के दौरान नियमित रूप से कर रहे हैं। इसके साथ ही हैंडवाश की व्यवस्था भी समुचित रूप से की गई है। यहां के इंजीनियरों एवं कर्मचारियों द्वारा पैर से चलने वाले शोप डिस्पेसर एवं नल चलाने का उपकरण बनाकर तीन स्थानों पर स्थापित किया गया है। ऐसा ही एक उपकरण रायपुर के कार्यालय में भी भेजा गया है। यहां एक वाटर कूलर के नल को पैर चलित बनया गया है। रोजाना पूरे क्षेत्र में कीटाणु और वायरस नाशक सो का छिड़काव किया जाता है । ब्रेक वान डिब्बे जिनमें गार्ड बैठते है उन्हें भी कीटाणु नाशक स्प्रे द्वारा कीटाणु रहित बनाया जाता है।

डिपो में उपलब्ध सामग्रियों द्वारा एक डिसइन्फेक्शन टनल का भी निर्माण किया गया है। इसके अलावा फागिंग मशीन द्वारा भी पूरे कार्य क्षेत्र को कीटाणु रहित बनाया जा रहा है।
निर्देशानुसार गाड़ियों की मरम्मत में सोशल डिस्टेसिंग का हरसंभव पालन किया जा रहा है। डिपो के लगभग 650 कर्मचारियों और अधिकारियों ने सरकार द्वारा जारी आरोग्य सेतु एप को अपने स्मार्टफोन पर डाउनलोड किया है और लगभग 690 उनके परिवार के सदस्यों ने भी इसे डाउनलोड किया है। अभी पीपीयार्ड में निर्देशानुसार 50% कर्मचारी प्रतिदिन आते हैं लेकिन कार्य की उत्पादकता आवश्यकता के अनुरूप है। इस हालात में भी यह डिपो शत-प्रतिशत माल गाड़ियों का परीक्षण करके उन्हें लोडिंग हेतु भेज रहा है और सिक लाइन दवारा 50% कर्मचारियों के साथ पहले की तुलना में लगभग 55% आर ओ एच (लगभग 12 प्रतिदिन ) और सभी सिक गाड़ियां (लगभग 16 प्रतिदिन) का अनुरक्षण किया जा रहा है। कोविड 19 से लड़ाई में कैरिज एवं वैगन डिपो पी पी याई भिलाई पूरे जोश, निष्ठा एवं क्षमता से मैदान में डटा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.