छत्तीसगढ़ में आधा दर्जन जिले रेड जोन की कगार में, कोरोना संक्रमण के आधार पर जल्द फैसला ले सकती है राज्य सरकार, बढ़ते संक्रमण से फूली लोगों की सांसे

By Jiwrakhan lal ushare cggrameen nëws

Share

रायपुर / छत्तीसगढ़ में एका एक कोरोना संक्रमण फैलने से लोग हैरत में है | राज्य सरकार ने अब तक संक्रमण की ऐसी रोकथाम की थी कि नाम मात्र के इलाकों में देखा गया था | लेकिन जब से प्रवासी मजदूरों की आवाजाही शुरू हुई है , तब से राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है | ताजा जानकारी के मुताबिक राज्य के बालोद, बलौदाबाजार, कवर्धा जांजगीर-चांपा और सूरजपुर को रेड जोन घोषित किया जा सकता है। जबकि रायपुर को रेड से आरेंज जोन में बदलने के लिए भी फैसला लिया जा सकता है | छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 95 पहुँच गई है | जबकि ठीक हुए मरीजों की संख्या 59 है | अभी एक्टिव केस 36 है | संक्रमण के फैलाव के चलते नए नियमों के तहत राज्य सरकार रेड , ऑरेंज और ग्रीन जोन निर्धारित करेगी | केंद्र सरकार ने लॉकडाउन 4 में राज्य सरकार को जोन तय करने अधिकार विशेष अधिकार दिया है। इसी के तहत राज्य सरकारें मरीजों की संख्या के आधार पर इनका निर्धारण कर सकती है।

प्रदेश में पिछले पांच दिनों में 33 मरीज मिले हैं। इनमें बालोद से 11, बलौदाबाजार से छह, जांजगीर-चांपा से 10, कवर्धा से दो, अंबिकापुर, गरियाबंद राजिम, कोरिया-सूरजपुर से एक-एक मरीज मिला। केवल पांच दिनाें में इतने मरीज मिलना खतरे का संकेत बताया जा रहा है। विशेषज्ञों का कहना है कि प्रवासी मजदूरों के कारण कोरोना के मरीज बढ़ सकते हैं। दूसरी ओर बालोद में तीन मरीज मिलने के बाद अब वह हॉट स्पॉट बन जाएगा। गाइडलाइन के अनुसार 14 मरीज मिलने के बाद कोई भी शहर हॉट स्पॉट की श्रेणी में आ जाता है। रायपुर में पिछले 14 दिनों से नया मरीज नहीं मिला है। इसलिए अब यह रेड से आरेंज जोन में आने की संभावना है। जबकि वह जिले जहां भी नए मरीज मिले हैं, वह रेड जोन में आ गया है। इनमें बालोद के अलावा जांजगीर-चांपा, कवर्धा, कोरिया, सूरजपुर, अंबिकापुर व गरियाबंद शामिल है

Leave a Reply

Your email address will not be published.