नारायणपुर : सुबह उठते ही अपनी जिम्मेदारी का बीड़ा उठाएं चल पड़ते हैं कोरोना योद्धा एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग

नारायणपुर Jiwrakhan lal ushare cggrameen nëws

देश में जब से कोरोना वायरस का संकट आया है, तब से नारायणपुर जिला प्रशासन के कोरोना योद्धा दिन-रात अपने फर्ज को अंजाम देने में जुटे हुए हैं। जिले के एक मात्र एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग भी एक ऐसे कोरोना योद्धा है, जो सुबह उठते ही अपनी जिम्मेदारी का बीड़ा उठाएं अपने कार्य क्षेत्र के लिए चल पड़ते हैं। श्री नाग का कहना है कि जब से कलेक्टर श्री पी.एस.एल्मा ने उन्हें कोरोना वायरस नियंत्रण के संबंध में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी है, उस दिन से रात को सोते समय भी दिमाग में यही रहता है कि सुबह उठकर किस-किस काम को प्राथमिकता से करना है और सुबह उठते ही उन्हें अपनी जिम्मेदारियों का मंथन मस्तिष्क में आरंभ हो जाता है।

एसडीएम श्री नाग ने बताया कि सुबह चाय की चुस्की लेने के पश्चात अपने क्षेत्र में जिम्मेदारी के निर्वहन में अपनी टीम के साथ जुट जाते हैं। सुबह 6 बजे से पहले उठकर हल्का व्यायाम और फिर जिले के विभिन्न क्षेत्र के निरीक्षण के लिए रवाना हो जाते हैं। वे अपने निरीक्षण में क्वारंटाईन सेंटर का जायजा, चेक पोस्ट निरीक्षण, जरूरतमंदों को राशन पहुंचाना, प्रवासी श्रमिकों को लाने-ले-जाने की व्यवस्था, गांव का भ्रमण कर अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं का जायजा लेते हैं। लॉकडाउन का पालन करवाना भी उनकी सर्वाेच्च प्राथमिकता में सम्मिलित है। राहत सामग्री रूम का निरीक्षण भी प्रतिदिन की प्राथमिकता में सम्मिलित है। जिले में 14 सेंटर में लोगों को क्वारंटाईन किया गया है, ऐसे व्यक्ति हैं जो बाहर के स्थानों से आए हैं।

दिन भर में कोरोना वायरस नियंत्रण हेतु तैयार प्लान के तहत बस दौड़ते रहना पड़ता है। कभी सीमा से लगे गांवों का निरीक्षण तो कभी अंदरूनी गांव का दौरा करके हालातों का जायजा लेते रहना प्रतिदिन के कार्यों में शुमार हो गया है। दिनभर कोरोना एक्शन प्लान कार्रवाई के बीच अगर मौका मिलता है तो साथ लाए टिफिन से भोजन कर लेते हैं। अन्यथा देर रात्रि घर पहुंच कर खाना मिलता है। रोजाना रात 8 से 10 के आसपास घर आते हैं, इस दौरान टोल नाकों से प्रवेश संबंधी फोन लगातार आते रहते हैं उनका निराकरण भी करना होता है। एसडीएम श्री नाग ने बताया कि प्रवासी श्रमिकों और अन्य लोगों के घर पहुंचने की खुशी उनके चेहरे पर देख कर दिन भर की थकान दूर हो जाती है।

वहीं जरूरतमंदों की मदद के लिए एक कदम आगे आते हुए एसडीएम श्री दिनेश कुमार नाग एवं उनकी पत्नी डॉ तृप्ति दिनेश नाग ने डोनेशन ऑन व्हील्स में चांवल, दाल, आलू-प्याज आदि दान किया। उन्होंने बताया कि फोन कॉल रात को किसी भी समय आ जाते हैं तो निराकरण अनिवार्य रूप से किया जाता है। ग्रामीण क्षेत्र की संपूर्ण टीम जिसमें तहसीलदार, पटवारी, सचिव, पुलिस बल इत्यादि की स्क्रीनिंग और स्वास्थ्य जांच भी करवाई है ताकि फ्रंटलाइन के लोग स्वस्थ रहकर मुस्तैदी से कार्य कर सकें। राजस्व टीम को किट उपलब्ध कराए गए हैं। जिसमें मास्क, सैनिटाइजर शामिल है ताकि अमला प्रभावित नहीं हो। इसके साथ ही क्षेत्र में लगातार सफाई, कीटनाशक छिड़काव, सैनिटाइजेशन भी करवाते रहकर रिपोर्ट से अवगत रहना पड़ता है।

   राहुल/510

Leave a Reply

Your email address will not be published.