छत्तीसगढ़ के जांबाज पुलिस जवानों को मिलेगा शौर्य सम्मान

छत्तीसगढ़ के जांबाज पुलिस जवानों को मिलेगा शौर्य सम्मान ,    


अदम्य साहस और वीरता के लिये सिपाही से आईपीएस अधिकारी तक को मिलेगी डिस्क और प्रशस्ति पत्र-अवस्थी
रायपुर जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज।
 छत्तीसगढ़ पुलिस के जांबाज जवानों को उनके अदम्य साहस और वीरता के लिये जल्द ही सम्मानित किया जाएगा। डीजीपी श्री डीएम अवस्थी ने ऐसे पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को सम्मानित करने ‘ शौर्य सम्मान Ó शुरू करने की घोषणा की है। उन्होंने बताया कि राज्य निर्माण के समय से अब तक उल्लेखनीय वीरतापूर्ण कार्य करने वाले आरक्षक से लेकर आईपीएस अधिकारी तक को शौर्य सम्मान दिया जाएगा। ऐसे जांबांज पुलिस अधिकारी / कर्मचारी को सम्मान स्वरूप डिस्क प्रदान की जाएगी जिसे वर्दी पर लगाया जा सकेगा साथ ही प्रशस्ति पत्र भी प्रदान किया जाएगा। शौर्य सम्मान कार्यक्रम छत्तीसगढ़ के प्रथम शहीद वीर नारायण सिंह के शहादत दिवस पर 10 दिसंबर को आयोजित किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि स्पंदन कार्यक्रम के तहत पुलिस जवानों का तनाव कम करने लगातार कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इसी क्रम में पुलिस जवानों का मनोबल बनाए रखने के लिये उक्त शौर्य सम्मान प्रारंभ किया जा रहा है।
 शौर्य सम्मान के लिये अधिकारी/ कर्मचारी को आवेदन के लिये किसी की अनुशंसा की जरूरत नहीं होगी बल्कि वे स्वयं आवेदन को नोडल अधिकारी को भेज सकेंगे। आवेदक निर्धारित प्रपत्र में आवेदन नोडल अधिकारी(शौर्य सम्मान) एआईजी सुरक्षा, गुप्तवार्ता शाखा पुराना पुलिस मुख्यालय में 30 सितंबर तक भेज सकते हैं। पुलिस अधिकारी/ कर्मचारी शौर्य सम्मान हेतु 1 नवंबर 2000 से 15 अगस्त 2020 तक वीरतापूर्ण कार्य हेतु आवेदन कर सकेंगे। इस अवधि के दौरान सेवानिवृत्त हो चुके पुलिस अधिकारी/ कर्मचारी भी सम्मान हेतु पात्र होंगे। आवेदन करने हेतु निर्धारित प्रपत्र छग सशस्त्र बल वाहिनी एवं जिलों के पुलिस अधीक्षक कार्यालय से प्राप्त किये जा सकते हैं।