इंद्रावती भवन में कोरोना से तीसरी मौत… कार्यालय बंद करने की मांग को लेकर अधिकारी – कर्मचारी फेडरेशन का

रायपुर।  छत्तीसगढ़ में ना तो कोरोना मरीजों की संख्या कम हो रही है और ना ही मौत का सिलसिला थम रहा है। रायपुर के इंद्रावती भवन में भी कोरोना से तीसरी मौत हो गयी है। इंद्रावती भवन में कोरोना से हुई मौत के बाद कर्मचारियों का गुस्सा फूट पड़ा है। अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन आज कोरोना संक्रमण के मद्देनजर इंद्रावती भवन में उग्र प्रदर्शन कर रहे हैं।

दरअसल छत्तीसगढ़ के मंत्रालय व संचालनालय में भी कोरोना का कहर फूटा है। पिछले दिनों इंद्रावती भवन में हुए कोरोना जांच में 227 में से 84 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजेटिव आयी थी। वहीं अब तक तीन लोगों की मौत भी कोरोना से हो चुकी है। पिछले पशुपालन विभाग के एक अधिकारी और श्रम विभाग के एक कर्मचारी की मौत के बाद कल नगर निवेश विभाग की एक महिला कर्मचारी की कोरोना से मौत हो गयी।

फेडरेशन के संयोजक कमल वर्मा ने बताया कि इंद्रावती भवन में लगातार कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है। यहां 5000 से ज्यादा कर्मचारी-अधिकारी तैनात हैं, लेकिन कोरोना के मद्देनजर किसी तरह का ऐहितियात नहीं बरता जा रहा है। उन्होंने कहा कि –

“हमने कई दफा राज्य सरकार से कोरोना के मद्देनजर कड़े कदम उठाने का आग्रह किया है, पिछले दिनों जांच में 84 अधिकारी-कर्मचारी पॉजेटिव पाये गये थे, वहीं तीन लोगों की अब तक मौत भी हो गयी है, हमारी मांग है कि इंद्रावती भवन को कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाये और अभी तत्काल 14 दिन के लिए बंद कर सेनेटाइजेशन सहित अन्य ऐहितियाती कदम उठाये जाये”