बढ़ते अपराध को देखते हुए डीजीपी का बड़ा फैसला : थाना प्रभारियों पर सीधे रखी जाएगी नजर, क्राइम कंट्रोल नहीं होने पर होगी कार्रवाई

रायपुरजिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज प्रदेश में बढ़ते अपराध को देखते हुए डीजीपी डीएम अवस्थी ने फैसला लिया है कि अब जिले के साथ ही सीधे पुलिस मुख्यालय से भी सभी थाना प्रभारियों की कार्यप्रणाली पर नजर रखेंगे। अब सभी थाना प्रभारियों को व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ा जाएगा। जहां वे अपने थाना की कार्यप्रणाली, घटित अपराधों और उन पर की गई कार्रवाई की जानकारी देंगे. इस ग्रुप में स्वयं डीजीपी मॉनिटर करेंगे। अवस्थी ने यह बातें पुलिस मुख्यालय में वर्चुअल कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये थाना प्रभारियों के लिये आयोजित कार्यशाला में कही है।

ALSO READ – प्रधानमंत्री मोदी को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से सीखना चाहिए – पीएचई मंत्री

अवस्थी ने कहा कि जो थाना प्रभारी अपराधों पर अंकुश नहीं लगाएंगे उन पर सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। थाने में वही आता है जो पीड़ित होता है। पुलिस का बेसिक काम पीड़ित को न्याय दिलाना और दोषियों पर कार्रवाई करना है। महिला और बच्चों के विरुद्ध अपराधों पर तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए। पुलिस थानों की कार्यप्रणाली में सुधार की आवश्यकता है। एक माह बाद थाना प्रभारियों के कामकाज की फिर से समीक्षा की जाएगी। जिसके अपराधों पर नियंत्रण ना कर पाने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी और अच्छा काम करने पर थाना प्रभारियों को पुरस्कृत किया जाएगा।

ALSO READ – पुरानी रंजिश के चलते युवक पर चाकू से हमला, इलाज के दौरान अस्पताल में मौत, दो आरोपी गिरफ्तार

कार्यशाला में अवस्थी ने कहा कि थाना प्रभारियों का मुख्य कार्य अपराधों पर नियंत्रण, अपराधियों को पकड़ने के लिये बारीकी से विवेचना, कानून-व्यवस्था बनाए रखना, पुलिस और नागरिकों के बीच बेहतर समन्वय स्थापित करना है। नागरिकों का विश्वास जीतकर ही अच्छी पुलिसिंग की जा सकती है।