भाजपा राज्य से ले कर केंद्र तक युवाओं के रोजगार के विरोध में खड़ी –कांग्रेस

     

छत्तीसगढ़ में पीएससी परीक्षा का विरोध केंद्र में नियुक्ति पर प्रतिबंध भाजपा का युवा विरोधी चरित्र

रमन सिंह सहित भाजपा के नेता केंद्रीय नियक्तियो में भर्ती पर रोक का विरोध क्यो नही करते ?

रायपुर /13 सितम्बर 2020/ जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युजकांग्रेस ने भाजपा को रोजगार विरोधी बताया है।छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी राज्य लोकसेवा आयोग की परीक्षाओं का विरोध कर रही है केंद्र में भाजपा की मोदी सरकार ने नए पदों की भर्ती पर प्रतिबंध लगा दिया है।प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा की पूरे देश मे भाजपा युवाओं के रोजगार के विरोध में खड़ी है ।छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार राज्य लोकसेवा आयोग की मुख्य परीक्षा समय पर करवा कर राज्य के युवाओं को सरकारी सेवा में अवसर देने जा रही है तो भाजपा कोरोना की आड़ में विरोध कर रही है वहां केंद्र सरकार ने नए पदों के सृजन और भर्ती पर प्रतिबंध लगा कर देश के बेरोजगार युवाओं के हितों पर कुठाराघात किया है। भारत सरकार के वित्त मंत्रालय के खर्च नियंत्रण विभाग ने केंद्र के सभी मन्त्रालयो , विभाग प्रमुखों को 4 सितम्बर 2020 को एक पत्र लिख कर स्प्ष्ट तौर पर यह कहा है कि भविष्य में कोई भी विभाग किसी भी प्रकार के पद निर्मित नही करेगा अर्थात नई भर्तियां नहीं करेगा । 1जुलाई के बाद जो नियुक्तियों के विज्ञापन निकले है उन्हें भी रद्द कर दिये गए है।यह भी निर्देश दिया गया है कि विशेष आवश्य्कता होने पर वित्तमंत्रालय के खर्च नियंत्रण विभाग से सहमति ले कर ही निर्णय लिए जाएंगे।सभी विभागों के प्रमुखों और सचिवों के साथ मुख्य लेखा अधिकारियों को यह कहा गया है कि वे इस आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करें।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि अपने वित्तीय कुप्रबन्धन के कारण मोदी सरकार ने देश का खजाना खाली कर दिया है ।सरकार युवाओं को रोजगार देना तो दूर अपने रोजमर्रा के खर्च को नही चला पा रही है ।हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वायदा करने वाली भाजपा और नरेंद्र मोदी हर साल नियमित रूप से होने वाली केंद्रीय सेवा में भर्ती भी नही कर पा रहे ।आजादी के बाद देश मे बेरोजगारी दर उच्चतम स्तर पर पहुच गयी है।देश की जीडीपी ऋणात्मक 24 पर है ।मोदी सरकार द्वारा लिए गए अदूरदर्शी निर्णय नोटबन्दी और जीएसटी के कारण देश की अर्थ व्यवस्था बर्बाद हो गयी ।निजी क्षेत्र में बड़ी संख्या में लोगो की नौकरियां चली गयी ।कोरोना महामारी के कारण भी निजी क्षेत्रों में युवाओं को नौकरियो के अवसर लगभग समाप्त हो गए ।छोटे मोटे धंधे में स्वरोजगार के अवसर समाप्त हो गए ऐसे समय केंद्र सरकार युवाओं को रोजगार देने में मदद करने के बदले केंद्रीय सेवा में जो अवसर थे उनको भी बन्द कर रही है।
कांग्रेस प्रवक्ता ने पूछा कि रोजगार के नाम पर ट्यूट कर मीडिया की सुर्खियों में रहने वाले रमन सिंह मोदी सरकार के इस रोजगार विरोधी कदम के विरोध में भी ट्यूट करने का साहस दिखाएंगे।छत्तीसगढ़ में भाजपाई पीएससी परीक्षा का सिर्फ इसलिए विरोध कर रहे क्यो कांग्रेस ने नीट जेईई का विरोध किया था जबकी दोनों परीक्षाओं में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों की संख्या में कई गुना का अंतर है पीएससी के परीक्षार्थी जेईई नीट में शामिल होने वाले बच्चो की अपेक्षा जादा परिपक्व है।

      सुशील आनंद शुक्ला
               सदस्य
      कांग्रेस संचार विभाग