हाथी का आतंक जारी: डौंडी वनवरिक्षेत्र में हाथी मचा रहा हैं तबाही, किसान और वनविभाग की बढ़ी मुश्किलें

INDIA

on November 17, 2020

डौंडी(जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज); करीब एक महीने से डौंडी वनपरिक्षेत्र में किसानों की फसल बर्बाद करते आ रहे चंदा दल हाथियों का झुंड जिधर क्षेत्र से आये थे अब उधर क्षेत्र में लौट रहे है, किन्तु यह कहना मुश्किल है हाथियों का दल वाकिफ में उसी दिशा पर लौट रहे है। चूंकि लौटते वक्त वह दल्लीराजहरा वनपरिक्षेत्र में घुसे हुए है और उनकी गतिविधि स्पष्ट इशारा नही कर रहा कि वे इसी वनपरिक्षेत्र में रहेंगे अथवा आगे की दिशा बढ़ने वाले है। हालांकि दल्लीराजहरा वनपरिक्षेत्र एवं डौंडी के वन अमला हाथियों की प्रत्येक गतिविधियों पर दिन-रात पैनी नजर रखकर अपनी ड्यूटी ईमानदारी से निभा रहे है।इसे भी पढ़े   सरकार कोरोना संक्रमण के रोकथाम में लगे शासकीय कर्मचारी/अधिकारी के असामयिक मृत्यु होने पर अनुग्रह राशि 50 लाख रुपये स्वीकृति करें – फेडरेशन

खबर है कि पिछले छः दिनों से दल्लीराजहरा वनपरिक्षेत्र के आमाबहारा व सिंघोला में विचरण करते आ रहे हाथियों का झुंड गत रात्रि आमाबहारा व सिंघोला क्षेत्र में जमकर उत्पात मचाते हुए बीस किसानों की खड़ी व काट चुके धान फसलो की जमकर तबाही मचा दी है। जानकारी के अनुसार आमाबहारा के सोनिया बाई,गणेशराम, सुबेसिंह,रामलाल, झाडूराम, सरजू,विष्णु, धनसिंह, मेहत्तर, जानकी, सेवाराम तथा सिंघोला गांव के किसान राजेन्द्र, गंगू राम, सतानंद, तुलसी, प्यारेलाल, विक्रम,कलीराम,हिंसा राम, थानसिंह आदि का फसल नुकसान किया है। जिसकी निरीक्षण करने मंत्री प्रतिनिधि पीयूष सोनी,जनपद अध्यक्ष बसंती दुग्गा, उपाध्यक्ष पुनीत सेन,कमलेन्द्र चंद्राकर , सिंघोला सरपंच जितेंद्र नेताम व अन्य ग्रामीण जन पहुँचे हुए है।