700 से अधिक श्रमिकों को एक साल से नहीं मिला वेतन, श्रम आयुक्त से लगाई गुहार

CHHATTISGARH NEWS

जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज


रायपुर,  राजनांदगांव जिले के अनुसूचित जनतजाति क्षेत्र खडगाव क्षेत्र के लोग बड़ी संख्या में अपने मांगों को लेकर राजधानी रायपुर पहुंचे। अवंती विहार स्थित श्रम आयुक्त में इन सभी लोगों ने उप मुख्य श्रम आयुक्त से मुलाकात कर अपनी समस्याओं से अवगत कराया।

दरअसल, ये सभी लोग मानपुर क्षेत्र में स्थित गोदावरी पवार एवं इस्पात में कार्य करते है। कार्यरत श्रमिकों का कहना है कि पवार पलांट बंद है करके तीन महीने से वेतन नहीं दिया गया है। वही कागजों में यह पवार प्लांट चालू है। इन्ही समस्याओं को लेकर आज करीब 700 श्रमिक राजधानी पहुंचकर श्रम आयुक्त को अपनी समस्याओं से अवगत कराया।

श्रमिक महेंद्र साहू ने बताया कि हम सभी माइंस में कार्य करते है, माइंस प्रबंधन में पिछले 1 साल से हमारा वेतन नहीं दिया है। उन्होंने बताया कि इस मसले पर जब माइंस  प्रबंधन से बात की गई तो प्रबंधन की ओर से माइंस के अस्थायी रूप से बंद होने का हवाला दिया। जबकि कागजों में यह माइंस चालू कर दिया गया है।

उन्होंने बताया कि प्रबंधन की ओर कहा गया है कि हम आपको 3 महीने का सैलरी देंगे है। इसके साथ ही स्थायी रूप से खदान शुरू होने के बाद जो पहले से लोग कार्यरत है उन्ही लोगों को काम पर रखा जायेगा। उन्होंने यह चेतावनी देते हुए कहा की यह क्षेत्र पांचवी अनुसूची में आता है और क्षेत्र के लोगों का यह संवैधानिक अधिकार कि माइंस में काम मिले। लेकिन माइंस प्रबंधन इन नियमो का नजरअंदाज कर मनमानी कर रहे है।