मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण टीका करण बाधित हो रहा -कांग्रेस

   

केंद्र सरकार अपने संघीय दायित्व से भाग रहा

रमन सहित किसी भाजपा नेता सांसद ने राज्य को वैक्सीन दिलाने कोई पहल नही किया

रायपुर /1जून 2021/कोरोना वैक्सीन के मामले में मोदी सरकार की बदनीयती एक बार फिर खुल कर सामने आ गयी है।प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि वैक्सीन के मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान जो तथ्य उभर कर सामने आए और केंद्र सरकार की वेक्सिनेशन नीति पर जो टिप्पणियां हुई और केंद्र सरकार की तरफ से सरकार के अधिवक्ता ने जो तर्क दिए उससे यह स्प्ष्ट हो गया कि केंद्र सरकार जनता को सस्ता और सर्व सुलभ वैक्सीन दिलाने के प्रति पूरी तरह से उदासीन और लापरवाह है।
मोदी सरकार की वेक्सीनेशन की गलत नीति का परिणाम है कि आज देश भर में 18 से 44 वर्ष के लोगो का टीका करण पूरी तरह से बन्द हो गया है ।एक देश एक विधान का नारा दे कर दशकों राजनीति करने वाले भाजपा की केंद्र सरकार वैक्सीन के मामले एक देश एक दाम नही लागू कर पाई।जो टीका केंद्र 150 में खरीद रहा वही राज्य 300 और 600 में तथा निजी अस्पताल 600 और 1200 में खरीदने को मजबूर है। मोदी सरकार अपने संघीय दायित्व से भाग रही ।आजादी के बाद से अभी तक देश मे जितने भी बीमारियों के लिए टीके लगाए गए सब केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय टीका करण के तहत करवाया ।मोदी सरकार ने कोरोना महामारी में टीका करण के राष्ट्रीय दायित्व को नही निभा पाई।
प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अचानक एक दिन आ कर देश मे 18 वर्ष से अधिक आयु के हर नागरिक को टीका लगाने की घोषणा करने के बाद मोदी और उनकी सरकार ने कोई प्रयास नही किया कि कैसे लोगो को टीका मिलेगा ।राज्यो से कहा गया कि वे कम्पनियों से टीका खरीद कर अपने प्रदेश की जनता को लगवाए । कम्पनिया राज्यो को कितनी मात्रा में कब टीके देगी मोदी सरकार ने इसकी भी कोई नीति नही बनाई। देश के सभी राज्यो में टीका लेने की होड़ लगी हुई है । निर्माता दोनों ही कम्पनियां राज्यो को उनकी मांग की आपूर्ति नही कर रही ।वैक्सीन निर्माता कम्पनियों की कुल क्षमता का पचास फीसदी हिस्सा केंद्र रख रही वह अपने हिसाब से भाजपा शाषित राज्यो को प्राथमिकता से दे रही है।विदेशी वैक्सीन निर्माता कम्पनियां राज्यो से डील नही करना चाह रही इस पर भी केंद्र सरकार अभी तक कोई स्टैंड नही ले रही कि खुद विदेशी कम्पनियों से टीका खरीद कर राज्यो को दे ताकि लोगो को वैक्सीन लग सके।
कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि केंद्र की गलत नीतियों का खामियाजा छत्तीसगढ़ को भी भुगतना पड़ रहा । प्रधानंमत्री मोदी ने 19 मई को देश मे 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगो को वैक्सीन लगाने की घोषणा किया ।इस सम्बंध 23 मई को केंद्र ने बताया की राज्य वैक्सीन कम्पनियों से खरीद कर टीका लगाएंगे ।छग सरकार ने 26 मई को 50 लाख डोज का ऑर्डर दोनों कम्पनियों को दिया बाद में दूसरी और तीसरे क़िस्त में कुल सवा करोड़ डोज का ऑर्डर दोनों कम्पनियों को दिया गया ।लेकिन दोनों ही वैक्सीन निर्माता कम्पनी ने राज्य के द्वारा दिये गये ऑर्डर के बदले लगभग 12 लाख डोज वैक्सीन की सप्लाई किया ।
कांग्रेस प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि छत्तीसगढ़ के भाजपा के नेता राज्य में वैक्सीन को लेकर लगातार झूठी बयान बाजी कर जनता में भ्रम तो फैलाते है लेकिन आज तक किसी भाजपा नेता ने केंद्र से छत्तीसगढ़ को वैक्सीन देने की मांग के लिए कभी पहल नही किया।छत्तीसगढ़ से भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह ,नेता प्रतिपक्ष ,प्रदेशभाजपाध्यक्षभाजपा की केंद्रीयमंत्री ,लोकसभा के 9 सांसद राज्यसभा के 2 सांसद है जिनकी पहुच केंद्र सरकार और भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व तक है लेकिन इन सभी ने कभी राज्य को वैक्सीन दिलवाने के लिए न कभी पत्र लिखा न फ़ोन किया ।इन सभी ने राज्य में लोगो को टीका नही लगने पर घड़ियाली आंसू बहाने बयान जरूर दिया है। यदि भाजपा के यह सारे नेता चाह ले तो राज्य के द्वारा खरीदने के लिए ऑर्डर किये सवा करोड़ डोज की सप्लाई मिल जाय तो राज्य में टीके का संकट समाप्त हो जाय।

   सुशील आनंद शुक्ला
         प्रवक्ता 
 छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी