छ.ग में हजारों बच्चे ऑनलाइन क्लास से वंचित

रायपुर :- इस समय हर तरफ कोरोना-महामारी के चलते बच्चों की ऑनलाइन कक्षाएं हो रही है, वहीं छत्तीसगढ़ एक ऐसा राज्य है जहां निजी स्कूल मनमानी पर उतर आए हैं, यहां निजी स्कूलों की गलत नीतियों के चलते हजारों बच्चे ऑनलाइन शिक्षा से वंचित हो चुके हैं |

इस मामले को लेकर छत्तीसगढ़ पालक संघ ने शिक्षा विभाग और जिला प्रशासन को आड़े हाथों लिया है, पालक संघ ने शिक्षा विभाग और जिला प्रशासन पर निजी स्कूलों के हाथ बिकने का आरोप लगाया है, शिक्षा विभाग के आदेश के बावजूद विद्यार्थी शिक्षा से वंचित हो रहे हैं, जिस कारण आज आक्रोशित पालकों ने धरना-प्रदर्शन किया, 5 सूत्रीय मांग को लेकर संघ ने मुख्यमंत्री के नाम रायपुर कलेक्टर सौरभ कुमार को ज्ञापन सौंपा है, इनकी मांगे पूरी नहीं होने पर 15 जुलाई को हजारों पालक चक्का जाम करेंगे |

पालक संघ के अध्यक्ष नज़रूर खान ने बताया कि निजी स्कूलों के सामने शिक्षा विभाग नतमस्तक है, जीसका खामियाजा विद्यार्थियों और पालकों को भुगतना पड़ रहा है, सुप्रीम कोर्ट, हाई कोर्ट और शिक्षा विभाग के आदेश के बावजूद भी प्रदेश के हजारों विद्यार्थी ऑनलाइन क्लासेस से वंचित है, शिक्षा के अधिकार अधिनियम का उल्लंघन हो रहा है, निजी स्कूलों के खिलाफ की गई शिकायतों पर आज दिनांक तक कोई कार्रवाई नहीं हो रही है, जिसके चलते आज प्रदेशभर के पालक धरना स्थल पर एकत्रित होकर विरोध प्रदर्शन किया, निजी स्कूलों की मनमानी और बेलगाम रवैये पर लगाम लगाने की मांग की. पालक संघ ने 5 सूत्रीय ज्ञापन सीएम के नाम कलेक्टर को सौंपा है |

कला,धर्म,संसकृति एवं समाचार सहित देश दुनिया की ताजातरीन अपडेट्स के लिये,