रायपुर जिले के राइसमिलर्स के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए 34647 क्विन्टल धान औऱ 9693 क्विन्टल चाँवल जप्त कर

रायपुर ।।कस्टम मिलिंग की धीमी गति के चलते खाद्य विभाग की टीम ने रायपुर जिले के राइसमिलर्स के विरुद्ध कार्यवाही करते हुए 34647 क्विन्टल धान औऱ 9693 क्विन्टल चाँवल जप्त कर छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग चाँवल उपार्जन आदेश 2016 के प्रावधानों का उल्लंघन का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

खाद्य नियंत्रक रायपुर ने बताया कि जिले के 83 राइसमिलर्स द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदे गए धान का उठाव करने के बाद नागरिक आपूर्ति निगम में चाँवल जमा न करने पर कलेक्टर रायपुर सौरभ कुमार के निर्देश पर खाद्य विभाग की टीम ने 5 राइसमिल के विरुद्ध कार्यवाही की।

विभाग की टीम ने कान्हा राइस इडस्ट्री आरंग,सालासर बाला जी राइस एग्रोटेक आरंग,हनुमान राइस इंडस्ट्री खरोरा,जनता राइस मिल खरोरा औऱ गिरधर गोपाल राइस इंडस्ट्री नयापारा में जांच करने पर पाया कि इनके द्वारा 2020-21में समर्थन मूल्य का धान उठा लेने के बाद चाँवल जमा नही किया गया है।

शासन का धान उठाने के बाद मिलर्स को शीघ्र चाँवल जमा करने के निर्देश का पालन नही किये जाने के कारण खाद्य विभाग के अधिकारियों ने कान्हा राइस इंडस्ट्री आरंग से2369 क्विन्टल धान औऱ1528 क्विन्टल चाँवल,सालासर बाला जी एग्रोटेक आरंग से 2060 क्विन्टल धान औऱ 5400 क्विंटल चाँवल, हनुमान राइस इंडस्ट्री से 3840 क्विंटल धान औऱ 1765 क्विन्टल चाँवल जनता राइस मिल खरोरा से 5050 क्विन्टल धान और 1000 क्विन्टल चाँवल औऱ गिरधर गोपाल राइस इंडस्ट्री नयापारा से 18880 क्विन्टल धान जप्त कर छत्तीसगढ़ कस्टम मिलिंग(चाँवल उपार्जन) आदेश 2016 के धाराओं के उल्लंघन किये जाने का प्रकरण बनाया है।

खाद्य विभाग की टीम में प्रभारी खाद्य नियंत्रक संजय दुबे, खाद्य निरीक्षक संजय कौशिक,संदीप शर्मा,स्वाति दीवान,सोनल चंद्राकर,सुचित्रा कश्यप रीना साहू थे।

कलेक्टर रायपुर सौरभ कुमार ने सभी अरवा मिलर्स को एक सप्ताह के भीतर कस्टम मिलिंग का चाँवल जमा करने का निर्देश दिया है।