सर्व आदिवासी समाज का अनिश्चितकालीन धरना-प्रदर्शन प्रारंभ


सर्व आदिवासी समाज जिला धमतरी द्वारा विभिन्न मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन आरंभ कर चुकी है। समाज द्वारा सरकार को आगाह करते हुए कहा कि सरकार यदि समाज की जायज मांगों को नहीं मानी तो यह आंदोलन अनवरत जारी रहेगा। छत्तीसगढ़ सरकार अपनी हठधर्मिता छोड़ें नहीं तो 26 जुलाई 2021 दिन सोमवार पूरे प्रदेश भर के आदिवासी समाज के साथ अनुसूचित जाति , गोंड समाज, कवर समाज,सतनामी समाज के साथ छत्तीसगढ़ के आरक्षित वर्ग के पूरे अधिकारी कर्मचारी गण बूढ़ा तालाब धरना स्थल में हजारों लाखों की तादाद में इकट्ठा होकर माननीय मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपने के लिए विधानसभा भवन तक विराट रैली प्रदर्शन करेंगे। ज्ञात हो पदोन्नति में आरक्षण की बहाली, स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में आरक्षण रोस्टर का पालन करते हुए अनुसूचित जाति ,जनजाति वर्ग के अधिकारी कर्मचारियों की भर्ती, सीलगेर हत्यारों के खिलाफ कार्यवाही, डुबान प्रभावित परिवार के सदस्यों को सिंचाई विभाग में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने एवं माननीय मुख्यमंत्री जी की घोषणा अनुरूप छत्तीसगढ़ में फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी करने वाले शासकीय सेवकों को तत्काल नौकरी से बर्खास्त किए जाने सहित कई स्थानीय मांग को लेकर बहुत पहले से लगातार छत्तीसगढ़ के विधायकों, मंत्रियों एवं मुख्यमंत्री तक लगातार ज्ञापन, भेंट मुलाकात कर अवगत कराया जाता रहा है। लेकिन सरकार द्वारा अनसुनी करने के कारण समाज को मजबूरन आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ा है।
आज के धरना प्रदर्शन में अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ के प्रांताध्यक्ष आर एन ध्रुव, जिला अध्यक्ष जीवराखन लाल मरई, कार्यकारी जिलाध्यक्ष महेश रावटे, तहसील अध्यक्ष जयपाल सिंह ठाकुर, अनीता ठाकुर सहित बड़ी संख्या में समाजिक जन उपस्थित थे।