सगाजन सेवा जोहार

जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज
जिला सर्व आदिवासी समाज बालोद के समस्त विकास खण्डों पर धरणा मे बैठे समस्त सगाजनो सत सत नमन।साथियों हमारे सवैधानिक माँग ही हम सब सगाजनो को ऊर्जा प्रदान कर रहा है।जो हर दिवस हर पन्डाल मे उपस्थिति के नजारे से आकलन कर सकते हैं।यही उपस्थिति ही हम सब ऊर्जा प्रदान कर रहा है।सभी पन्डाल मे ग्राम और घर घर का तिनो शक्ति तन मन और धन का आना ये बता रहाहै कि अब क्रांति का बिगुल बज गया है।हमारे अमर शहीदों ने जब जब क्रांति की बिगुल बजाया था तब तब एक नईइतिहास रचे रथे।सर्व आदिवासी समाज भी एक नई इतिहास रच रहा है और रच कर दिखाये गा ।हम सब को एक सुनहरा मौका भी मिला हैं कि हम अपनी समस्याओं को क ई बार अपने लोगों को भी नहीं बता पाते थे।इसी बहाने हम कोशिश करें कि हर नये पुराने समस्याओं को अपने उदबोधन मे बार बार बताये।क्योंकि ये समस्या आते ही रहता ।मनुवादी लोग सविधान मे सशोधन के बहुत सारे एन जी ओ टीम बना कर रखें हुए हैं जो बीच बीच मे पीच मारते रहते है उछालते रहते है।इस लिए हमारे समस्या पाठ शाला छ ब्लाकों मे अच्छे से लगाये।कोरोना काल है स्कूल बन्द आदिवासी पाठशालायें चालू है।किसी शासन प्रशासन मे दम नही कि इसे बन्द करा सके।हर सवैधानिक मुद्दा, राजस्व मामला, गांव ब्यवस्था, आर्थिक विकास,——— ये सब कोया पुनेम को अधार मनते हुए प्रशिक्षण चालू किजिए ।सभी जगह फ्लेक्स त्वरित लगवाईये।ये हमारे सुझाव है ।बाकी अगले लेख –पर–

प्रवक्ता
जिला सर्व आदिवासी
समाज जि ला बालोद