यातायात चौपाल कार्यक्रम को मिलने लगा भारी जनसमर्थ, तिल्दा थाना क्षेत्र के ग्रामीण जनप्रतिनिधियों के आह्वान पर 1 दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतों में किया जा चुका कार्यक्रम का आयोजन।*

Jiwrakhan lal Ushare cggrameen nëws

*यातायात चौपाल कार्यक्रम में बच्चे, बूढ़े, युवा, जवान भारी संख्या में उपस्थित होकर यातायात नियमों की जानकारी के साथ ही नियमों का पालन कर वाहन चलाने का ले रहे संकल्प*

*यातायात जन जागरूकता कार्यक्रम के साथ ही साथ पर्यावरण संरक्षण एवम् वृक्षारोपण के प्रति भी चलाया जा रहा जन जागरूकता अभियान*

*यातायात रायपुर दिनांक 25 जून 2021* राजधानी रायपुर मे सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम एवं लोगों में यातायात नियमों के प्रति जन जागरूकता लाने हेतु जिले के ग्रामीण थाना क्षेत्रों में चलाएं जा रहे यातायात जन जागरूकता कार्यक्रम का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। उक्त यातायात चौपाल कार्यक्रम में ग्रामीण जन बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं एवं अपने गांव के लोगों को यातायात नियमों के पालन कर वाहन चलाने हेतु प्रेरित कर रहे हैं।

बता दे की राजधानी रायपुर मे प्रतिवर्ष लगभग 2000 से 2500 के बीच सड़क दुर्घटनाएं घटित होती है जिसमें 450-500 लोगो की जान जा रही है एवं 1200 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हो रहे हैं। सड़क दुर्घटना होने के कारणों का अवलोकन करने पर सबसे ज्यादा दुर्घटना ग्रामीण क्षेत्रों पर होना पाया गया है सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु के प्रकरणों में सबसे ज्यादा मृत्यु ग्रामीण थाना क्षेत्रों में पाया गया है जहां वाहन चालकों द्वारा यातायात नियमों का अभाव एवं सुरक्षा उपकरण हेलमेट नहीं लगाने से पाया गया जिसे देखते हुए *वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जिला रायपुर श्री अजय कुमार यादव* द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के वाहन चालकों को अधिक से अधिक यातायात नियमों की जानकारी एवं पालन करने हेतु जन जागरूकता अभियान चलाए जाने निर्देशित किया गया जिस के परिपालन में यातायात पुलिस रायपुर द्वारा *दिनांक 15 जून 2021* से लगातार ग्रामीण थाना क्षेत्रों के थाना प्रभारियों से संपर्क कर गांव-गांव में यातायात चौपाल कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में आज दिनांक को जिले के तिल्दा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम सरोरा में यातायात जन जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
बता दें कि यातायात पुलिस रायपुर द्वारा यातायात नियमों का विधिवत पालन करने जनसामान्य में जागरूकता प्रसारित करने पूरे प्रदेश भर में निर्धारित नियमों का परिपालन सुनिश्चित कर अनापेक्षित सड़क दुर्घटनाओं को रोकने यातायात व पुलिस विभाग के संयुक्त तत्वाधान में जनजागरूकता अभियान चलाया जा रहा है इसी तारतम्य में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रायपुर के निर्देश पर तिल्दा थाना क्षेत्रान्तर्गत समीपस्थ ग्राम सरोरा के बाजार चौक पर *यातायात चौपाल* का आयोजन किया गया ।
इस अवसर पर यातायात रायपुर के उप पुलिस अधीक्षक (डी.एस. पी.) श्री सतीश ठाकुर ,थाना प्रभारी तिल्दा श्री शरद चंद्रा,आरक्षक श्री इंद्र कुमार पांडेय, स्थानीय थाने के कर्मचारी गण उपस्थित रहे ।
कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती के तैल चित्र पर माल्यार्पण कर किया गया तत्पश्चात ग्राम के पंचायत भवन में वृक्षारोपण कर कार्यक्रम की शुरुआत की गई।

*मुख्य वक्ता के रूप में डी एस पी सतीश ठाकुर* ने विगत वर्षों की तुलना में सड़क दुर्घटनाओं में निरंतर हो रही वृद्धि के आंकड़े प्रस्तुत करते हुए चिंता जाहिर की तथा उसे गंभीरता से लेते हुए कहा कि आकस्मिक सड़क दुर्घटनाओं का मूल कारण बिना हेलमेट, मादक पदार्थों का सेवन कर, सीट बेल्ट के बिना तथा क्षमता से अधिक सवार होकर वाहन चलाने जैसी असावधानियों को बताया,उन्होंने यातायात नियमों का विधिवत पालन करने जनसमूह को प्रेरित करते हुए अनुशासित ढंग से वाहन चालन करने प्रेरित किया ।
श्री ठाकुर ने ततसंबंध में कुछ प्रेरक पंक्तियों व स्वामी विवेकानंद जी के प्रेरणास्पद उद्गार के माध्यम से भी लोगों को मानवीय कर्तव्यों के पालन हेतु अपील की। उन्होंने जनसामान्य को जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस के समक्ष सीमित संसाधनों का उपयोग कर समाज की सुरक्षा संबंधी अनेकों चुनौतियां होती है, इसलिए उनके संबंध में मन में अनर्गल छवि न बनाएं ,किसी पूर्वाग्रह से ग्रसित न रहते हुए पुलिस को अपना मददगार समझें क्योंकि आप पूरे उत्साह और सुरक्षित ढंग से त्यौहार व उत्सव मनाएं उसके लिए पुलिस अपनी खुशियों का बलिदान करती है,महामारी काल में पुलिस के समर्पण आभास कराया। उन्होंने जनसामान्य को अपने अधिकारों के उपयोग के साथ ही साथ मानवीय व सामाजिक कर्तव्यों के परिपालन की अपील करते हुए कहा कि सड़क दुर्घटनाओं में पीड़ित जरूरतमंदों की यथासंभव मदद करने का प्रयास करें, हो सकता है हमारे त्वरित प्रयासों से किसी को नई जिंदगी मिल जाए ,उन्होंने पीड़ितों की मदद करने पर कोई प्रशासनिक व न्यायालयीन अड़चन न आने आश्वस्त भी किया ।

*थाना प्रभारी तिल्दा नेवरा श्री शरद चंद्रा* ने अपने उद्बोधन में समस्त उपस्थित ग्रामीण जनों को यातायात नियमों का पालन करने एवं वाहन चालन के दौरान अनिवार्य रूप से हेलमेट धारण करने की अपील की साथ ही दुर्घटनाओं का मुख्य कारण नशे की हालत में वाहन चलाना एवं नाबालिक वाहन चालकों को 18 वर्ष से पहले वाहन देना बताते हुए नशे की हालत में वाहन न चलाने की अपील की गई। कार्यक्रम में उपस्थित युवाओं को किसी भी प्रकार के मादक द्रव्य से दूर रहते हुए अपने सुनहरे भविष्य को ध्येय में रखते हुए कठिन परिश्रम एवं लगन के साथ मेहनत करते हुए अपने मुकाम को हासिल करने के लिए प्रेरित किया गया।
यातायात चौपाल कार्यक्रम के दौरान उपस्थित ग्रामीण जनों को 1500 फलदार वृक्ष पौधारोपण हेतु प्रदान किया गया साथ ही इनकी देखभाल करने हेतु निर्देशित भी किया गया जिनका ग्रामीणों ने सम्मान किया एवं विश्वास दिलाया कि आने वाले वर्षों में इन्हें एक पेड़ के रूप में तब्दील करेंगे एवं इनकी बच्चों की तरह परवरिश करने का संकल्प लिया गया।
उक्त कार्यक्रम में ग्राम सरोरा के सरपंच पंच गण एवं भारी संख्या में स्थानीय ग्रामीण उपस्थित रहे।