रायपुर, 27 जुलाई 2021 जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण ऊ

स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने राज्य में स्कूल खोले जाने की तैयारियों और महत्वपूर्ण दिशा-निर्देशों की जानकारी सभी तक पहुंचाने के लिए आज आयोजित वेबिनार में सभी जिले, विकासखण्ड, संकुल, स्कूलों, पालकों और शाला प्रबंध समिति के सदस्यों को सम्बोधित किया। स्कूल शिक्षा सचिव ने कहा कि स्कूल प्रारंभ करने के पूर्व समुदाय में वातावरण का निर्माण करें। पालकों को अपने बच्चों के पढ़ने में ध्यान देने के लिए जागरूक करे। स्कूल खोलने के लिए आवेदन का सुझाव देते हुए बच्चों के नियमित शाला आने के लिए प्रेरित करने कहा। उन्होंने कहा कि कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए पूरी तरह से बच्चों को जागरूक किया जाए। सभी शिक्षक और स्टाफ कोविड टीका अवश्य लगवा लें।
स्कूल शिक्षा सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने कहा कि राज्य शासन के निर्णय अनुसार प्रदेश में लम्बी अवधि लॉकडाउन के बाद 2 अगस्त 2021 से विद्यालयों में विद्यार्थियों की भौतिक उपस्थितियों के साथ पढ़ाई की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। सभी निजी और शासकी विद्यालय में कक्षा 10वीं और 12वीं की कक्षाएं प्रारंभ की जाएंगी। यह कक्षाएं उन्हीं जिलों में संचालित की जाएंगी, जहां पर विगत सात दिनों में निरंतर कोरोना पॉजीटिव एक प्रतिशत से कम रहा हो। कक्षा पहली से पांचवीं और कक्षा 8वीं को इस शर्त पर खोले जाने की अनुमति दी जाएग। जब किसी क्षेत्र के पालक समिति ग्रामीण क्षेत्र में अपनी ग्राम पंचायत और शहरी क्षेत्र में संबंधित वार्ड पार्षद को पत्र लिखकर विद्यालया खोलने की मांग करेंगे।
स्कूल शिक्षा सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने संबंधितों से कहा कि स्कूल खोलने की प्रक्रिया को 2 अगस्त तक पूरी की जाए। कक्षा में विद्यार्थियों को एक दिवस के अंतराल में बुलाया जाए, प्रतिदिन केवल आधी संख्या में ही बच्चों को कक्षा में बुलाया जाए। किसी भी विद्यार्थी को सर्दी, खांसी, बुखार हो तो उसे कक्षा में नहीं बैठाया जाए। उन्होंने कहा कि ऑनलाईन कक्षाओं का संचालन पूर्व की तरह होता रहेगा। स्कूल आने के लिए विद्यार्थियों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी। केन्द्र सरकार और राज्य शासन द्वारा समय-समय पर कोरोना बचाव के लिए जारी निर्देशों का पालन सुनिश्चित किया जाए। सभी शिक्षण संस्थाओं में कमरों की साफ-सफाई ठीक प्रकार से करने के निर्देश दी गई।
डॉ. कमलप्रीत सिंह ने कहा कि मध्यान्ह भोजन व्यवस्था के लिए आवश्यक तैयारी कर ली जाए। छात्रों की नियमित उपस्थिति के लिए पालकों एवं समुदाय का सहयोग लेने की बात कही। स्कूल शिक्षा सचिव ने कहा कि स्कूल प्रांगण में वृक्षारोपण के लिए समुदाय को आमंत्रित किया जाए। स्कूल खुलने से पहले हमें क्या करना चाहिए इस संबंध में समस्त शिक्षा के सहायक संचालक डॉ. एम. सुधीश ने जानकारी दी