अदाणी फाउंडेशन रायखेड़ा मना रहा विश्व स्तनपान सप्ताह

Jiwrakhan lal Ushare cggrameen nëws

 

अगस्त 2, 2021 रायपुर: विश्व स्वस्थ संगठन हर साल अगस्त के पहले सप्ताह में विश्व स्तनपान सप्ताह का आयोजन करता है और ये प्रयास रहता है की समाज के हर वर्ग में इसको लेकर जागरूकता पैदा की जाये। इस अवसर पर अदाणी फाउंडेशन रायखेड़ा, आंगनबाड़ी केन्द्रो के साथ मिल कर ग्राम रायखेड़ा, भाटापारा, गैतरा, चिचोली,एवं गौरखेड़ा में 1 से 7 अगस्त के बीच विश्व स्तनपान सप्ताह के तहत कई कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है।

 

अदाणी फाऊंडेशन द्वारा संचालित सुपोषण कार्यक्रम के अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्रों में गर्भवती व शिशुवती माताओं के लिए परामर्श सत्र का आयोजन किया जा रहा है जिसके तहत स्तनपान का महत्व, स्तनपान में जटिलताओं को सरल बनाना, दूध के विकल्प के बारे में जागरूकता को बढ़ाना आदि पर चर्चा की जाएगी। इसके अतिरिक्त स्तनपान के महत्व पर पुरुषों के समूह में जागरूकता पैदा करना, समूह चर्चा, पतियों द्वारा स्तनपान का समर्थन करने की शपथ लेना, माताओं के लिए स्वस्थ भोजन को बढ़ावा देने वाली धात्री माता की घरेलू थाली का प्रदर्शन आदि जरुरी व अतिआवश्यक विषयों पर सत्र आयोजित किये जाएंगे। इस दौरान लाभार्थियों के बीच बैनर/पोस्टर/स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन भी कोविड -19 के सारे मापदंडो को ध्यान में रख कर किया जा रहा है।

 

अदाणी फाउंडेशन के लिए स्वास्थ एक महत्वपूर्ण विषय है और वह इस क्षेत्र में स्थानिकों के हित में अनेक कार्यक्रमों के संचालन करता है | हाल ही में अदाणी फाउंडेशन द्वारा संचालित प्रोजेक्ट सुपोषण के संगीनियों द्वारा दिनांक 7 से 16 जुलाई तक परियोजना के उपरोक्त 5 गांवों में अपने सुपोषण कार्यक्रम के तहत समन्वित बाल विकास योजना के साथ समन्वय कर वजन त्यौहार मनाया, जिसमें 0 से 5 वर्ष की आयु वर्ग के 457 बच्चों की लम्बाई व वजन की माप की गई। साथ ही सुपोषण कार्यक्रम के तहत वन महोत्सव के मौके पर गांवों में स्तनपान कराने वाली, गर्भवती और किशोरी बालिकाओं के घरों में पोषक वृक्ष मुनगा के 500 पौधों का रोपण भी कराया गया हैं।

 

अदाणी फाउंडेशन के बारे में:

 

1996 में स्थापित, अदाणी फाउंडेशन 18 राज्यों के 2250 गाँव और कस्बो में सक्रिय है | अदाणी फाउंडेशन की प्रोफेशनल टीम, नवाचार, जन भागीदारी और सहयोग की भावना के साथ काम करती है। वार्षिक रूप से 32 लाख से अधिक लोगों के जीवन को प्रभावित करते हुए अदाणी फाउंडेशन चार प्रमुख क्षेत्रों- शिक्षा, सामुदायिक स्वास्थ्य, सतत आजीविका विकास और बुनियादी ढा़ंचे के विकास, पर ध्यान केंद्रित करने के साथ सामाजिक पूंजी बनाने की दिशा में काम करता है। अदाणी फाउंडेशन ग्रामीण और शहरी समुदायों के समावेशी विकास और टिकाऊ प्रगति के लिए कार्य करता है, और इस तरह, राष्ट्र-निर्माण में अपना योगदान देता है।