आंगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों के लिए बना गर्मा-गर्म भोजन

जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज
*विश्व स्तनपान सप्ताह भी मनाया गया*
*रायपुर 2 अगस्त 2021,* चार माह बाद जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों पर पुन: बच्चों के लिए गर्मा-गर्मभोजन और गर्भवती महिलाओं के लिए सुपोषित थाली लगाकर कार्यक्रम की शुरुआत की गई । साथ ही 1 अगस्त से 7 अगस्त तक चलने वाले विश्व स्तनपान सप्ताह को भी मनाया गया । इस दौरान स्वस्थ शिशु प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया जिसमें 6 माह से कम उम्र के जो बच्चे स्वस्थ (वजन और ऊंचाई के अनुरूप) थे उनको उपहार भी दिए गए।
जिला कार्यक्रम अधिकारी अशोक पांडे और परियोजना अधिकारी सोमनाथ राजपूत के मार्गदर्शन में कोविड-19 के लिए जारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए इन गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है ।
इस बारे में पर्यवेक्षक रीता चौधरी ने बताया, “गुढ़ियारी सेक्टर की 28 आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आज से पुन: बच्चों के लिए गर्मा-गर्म भोजन और गर्भवती महिलाओं के लिए सुपोषित थाली खिलाकर शुरुआत की गई है। आंगनबाड़ी केंद्र अशोकनगर-2 में बच्चों का स्वागत तिलक लगाकर किया गया। इस अवसर पर बच्चे बहुत प्रसन्न नजर आये । केंद्र में 3 वर्ष 6 वर्ष के 20 बच्चे आए थे । जिसमें से 14 बच्चों को पहली पाली में खिलाया गया उसके बाद 6 बच्चों को दूसरी पाली में बैठाकर भोजन कराया गया इसी प्रकार 4 गर्भवती महिलाओं ने महतारी जतन अंतर्गत भोजन ग्रहण किया। स्तनपान दिवस भी मनाया गया एवं स्वस्थ शिशु प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया । जिसमें 6 माह से कम उम्र के बच्चों को उपहार भी दिया गया । मेनू के अनुसार आज दाल, चावल, रोटी, सब्जी, आलू सोयाबीन बड़ी की सब्जी भाजी, पापड़, अचार सलाद 3 वर्ष से 6 वर्ष के बच्चों को दिया गया एवं गर्भवती महिलाओं को भी दिया गया। उन्होंने कहा, आंगनबाड़ी केंद्र बड़ा अशोकनगर में विश्व स्तनपान सप्ताह भी मनाया गया जिसमें गर्भवती महिलाऐं, शिशुवती महिलाऐं सम्मिलित हुई, उनको शीघ्र स्तनपान, केवल स्तनपान एवं सतत स्तनपान के बारे में विस्तृत रूप से बताया गया । इस अवसर पर बालिका सावी जोकि 2 माह की थी जिसका वजन 4 किलो था उसे स्वस्थ शिशु प्रतियोगिता में उपहार भी दिया गया ।‘’
आंगनबाड़ी केंद्र पर भोजन करने आये 5 वर्षीय यश साहू ने कहा, “ केंद्र पर पहले साबुन से हाथ धुलाये गए । इसके बाद दीदी ने सबको गोल घेरे में बैठा कर भोजन दिया । बहुत दिनों बाद अच्छा भोजन मिला दीदी ने तिलक भी लगाया था । मैंने कविता और गिनती भी सुनाई दीदी बहुत खुश हुई” ।
दो माह की गर्भवती डिगेश्वरी साहू कहती है, ’’आंगनबाड़ी केंद्र पर आज कई गर्भवती दीदियों के साथ आयोजन किया आपसी बातचीत कर गर्भावस्था के दौरान सावधानियां और किस प्रकार का भोजन नियमित करते रहना है की जानकारियों को भी एक दूसरे से साझा किया, साथ ही संस्थागत प्रसव के लिए जाने से पूर्व की तैयारियों पर एक दूसरे से बातचीत की” ।

…………………………………..