थाना गोलबाजार क्षेत्रांतर्गत स्थित बंजारी मंदिर के दान पेटी से नगदी रकम चोरी करने वाले 05 आरोपी गिरफ्तार


विवरण – प्रार्थी राजय वर्मा ने थाना गोलबाजार में रिपोर्ट दर्ज कराया कि वह बंजारी चैक गोलबाजार में रहता है तथा पेशे से वकील है। बंजारी चैक गोलबाजार में बंजारी माता का काफी प्राचीन मंदिर है, मंदिर के अंदर एक दान पेटी रखीं है, जो जंजीर से बंधी रहती है जिसमें ताला लगा रहता है। मंदिर में दर्शनार्थी भक्तगण तथा व्यवसायी पूजा पाठ करने आते है और अपनी श्रद्धा अनुसार चढ़ावा दान पेटी में डालते है। मंदिर का दरवाजा प्रतिदिन सुबह करीब 07.00 बजे खुलता है, दोपहर 01.00 बजे बंद हो जाता है, फिर शाम 04.00 बजे खुलता है जो रात्रि करीब 08.00 बजे आरती होने के बाद रात करीब 09.00 बजे बंद हो जाता है। दिनांक 29.07.2021 के सुबह करीब 07.00 बजे प्रार्थी मंदिर खुलने के समय में आया तो वहां पर मंदिर के दक्षिण तरफ खुलने वाले दरवाजे के पास मंदिर के पुजारी सहित अन्य व्यक्ति देखें की बंजारी मंदिर के दरवाजे के उस गेट का ताला टूटा हुआ नीचे पडा था। दान पेटी टूटी हुई मंदिर के बाहर पीछे तरफ किनारे में पढ़ी हुई थी, कुछ चिल्लहर तथा 10 के नोट थे। कोई अज्ञात चोर मंदिर के दरवाजे मंे लगे ताला को तोडकर अंदर प्रवेश कर दान पेटी जो कि मंदिर के अंदर जंजीर में लाॅक कर रखी थी, को तोड कर दान पेटी में रखंे नगदी रकम को चोरी कर ले गया है। जिस पर अज्ञात आरोपी के विरूद्ध थाना गोलबाजार में अपराध क्रमांक 60/21 धारा 457, 380 भादवि. का अपराध पंजीबद्ध किया गया।
घटना को पुलिस उपमहानिरीक्षक एवं वरिष्ठ पुलिस महोदय श्री अजय यादव द्वारा गंभीरता से लेते हुये अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर श्री लखन पटले, नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली श्री आंजनेय वाश्णेय (भा.पु.से.) एवं श्री के.के.वाजपेयी थाना प्रभारी गोलबाजार को अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में थाना गोलबाजार पुलिस की टीम द्वारा अज्ञात आरोपी की पतासाजी प्रारंभ की गई। टीम के सदस्यों द्वारा घटना के संबंध में प्रार्थी, मंदिर के पुजारी सहित आसपास के लोगों से विस्तृत पूछताछ किया गया। प्रकरण में मुखबीर लगाने के साथ ही घटना स्थल व उसके आसपास लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेजों को खंगालकर अज्ञात आरोपी की पहचान सुनिश्चित करने के प्रयास किये जा रहे थे। इसी दौरान घटना में संलिप्त नज्जू उर्फ अब्दुल अजीम जो कि पूर्व में भी चोरी के प्रकरणों में जेल निरूद्ध रह चुका था के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई जिसके आधार पर टीम द्वारा नज्जू उर्फ अब्दुल अजीम को पकड़कर प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर कड़ाई से पूछताछ करने पर आरोपी नज्जू द्वारा अपने अन्य साथी प्रकाश चन्द्राकर, अतीक खान, राजेश साहू एवं अजय विश्वकर्मा के साथ मिलकर मंदिर में रखें दान पेटी से नगदी रकम चोरी करना स्वीकार किया गया। जिस पर टीम के सदस्यों द्वारा घटना में संलिप्त सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर आरोपियों की निशानदेही पर उनके कब्जे से चोरी की नगदी 58,155/- रूपये जप्त कर आरोपियों के विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही किया गया।

*गिरफ्तार आरोपी*
*01. नज्जू उर्फ अब्दुल अजीम पिता अब्दुल हकीम उम्र 19 साल निवासी नूरानी चैक राजातालाब थाना सिविल लाईन रायपुर।*
*02. प्रकाश चन्द्राकर पिता बोला चन्द्राकर उम्र 19 साल निवासी मोवा तालाब के पास थाना पंडरी रायपुर।*
*03. अतीक खान पिता शकील खान उम्र 21 साल निवासी दरगाह के पास मोवा थाना पंडरी रायपुर।*
*04. राजेश साहू पिता श्रीराम साहू उम्र 28 साल निवासी सुंदरीपारा मोवा थाना पंडरी रायपुर।*
*05. अजय विश्वकर्मा पिता दुखित विश्वकर्मा उम्र 20 साल निवासी विधानसभा रोड़ मोवा थाना पंडरी रायपुर।*

*आरोपियों को गिरफ्तार करने एवं मशरूका बरामद करने में निरीक्षक के.के.वाजपेयी थाना प्रभारी गोलबाजार, सउनि. गौतम, आर. नरेन्द्र वर्मा, जसवंत शर्मा एवं अमित कुमार की सराहनीय भूमिंका रहीं।*