करमडार महापूजा एवम् करमा नृत्य महोत्सव”*

आज दिनांक 17.09.2021 दिन शुक्रवार (उजियारी पक्ष भादो एकादशी) के पावन पर्व पर परम श्रद्धेय गोंडवाना गुरु देव, गुरु माता जी के सानिध्य एवम् गोंडी धर्म संस्कृति संरक्षण समिति व छत्तीसगढ़ गोंडवाना संघ के संयुक्त तत्वावधान में राष्ट्रीय स्तर पर आदिवासी बाहुल्य क्षेत्रों में पारंपरिक परब ” *करमडार महापूजा एवम् करमा नृत्य महोत्सव”* बड़े ही धूमधाम, हर्षोल्लास के साथ ब्लाक एवम् जिला स्तर पर मनाया गया.
जिला राजनांदगांव के जंगलपुर एवम् जिला कबीरधाम के तालपूर में परम पूज्यनीय गुरुमाता तिरुमाय दुलेश्वरी सिदार जी (पाली जनपद अध्यक्ष, जिला कोरबा) मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहीं .
वहीं परम् श्रद्धेय गोंडवाना गुरुदेव जी जिला जबलपुर (मध्यप्रदेश) में प्रमुख रूप से उपस्थित रहे.
परम श्रद्धेय गुरुदेव, गुरु माता जी ने अपने दिव्य संदेश में करम डार महापर्व एवम् करमा नृत्य की आयुर्वेदिक व सांस्कृतिक महत्व को बताते हुए सभी मूलनिवासियों को संगठित रहने, अपनी धर्म, भाषा व संस्कृति को अक्षुण्ण बनाए रखने का संदेश दिया गया.
युवाओं को अपनी संस्कृति के साथ ही शिक्षा, उच्च शिक्षा, व्यवसायिक शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने तथा माताओं को गांव गांव में गवरा कलश के माध्यम से समृद्धि लाने, लघु एवम् कुटीर उद्योग के माध्यम से घर परिवार में आर्थिक संपन्नता लाने, समाज के हर बच्चों को शिक्षित,उच्च शिक्षित व संस्कारित कर समाज का गौरव बढ़ाने का संदेश दी गई.