अदाणी फाउंडेशन ने मनाया राष्ट्रीय पोषण माह 2021

Jiwrakhan lal Ushare cggrameen nëws

 

गर्भवती तथा शिशुवती महिलाओं के पोषण पर रहा फोकस

 

रायपुर, 27/09/21: अदाणी फाउंडेशन द्वारा रायपुर एनर्जेन लिमिटेड रायखेड़ा के सहयोग से राष्ट्रीय पोषण माह मनाया गया | फाउंडेशन के सुपोषण संगीनियों द्वारा ग्राम रायखेड़ा, गैतरा, चिचोली, भाटापारा और गौरखेड़ा में सितम्बर माह के दौरान विभिन्न सुपोषण कार्यक्रमों का आयोजन किया गया | इसके अंतर्गत कुपोषित बच्चों, गर्भवती व शिशुवती महिलाओं तथा बालिकाओं के यहाँ पौधरोपण, परिवार परामर्श सत्र, हाथों की सफाई के तरीके, स्लोगन लेखन, दीवार लेखन, अनाजों, फलों तथा सब्जियों से रंगोली बनाकर, रोगाभ्यास सत्र जैसे विभिन्न गतिविधियों से सुपोषण की जानकारी दी गई |

 

इस दौरान संगिनियों द्वारा गर्भवती तथा शिशुवती महिलाओं के साथ टेक होम राशन का उपयोग करके बनाए गए विभिन्न व्यंजनों का प्रदर्शन भी किया गया। साथ ही गर्भवती और शिशुवती महिलाओं द्वारा धात्री की पौष्टिक थाली प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। इसके अलावा किशोरी बालिकाओं द्वारा रंगोली प्रतियोगिताओं में विभिन्न फल, अनाजों तथा सब्जियों के पोषक तत्वों के महत्व बताए गए।

 

इसके अतिरिक्त सुपोषण संगिनी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तथा मितानिन के साथ आंगनबाड़ी की विभिन्न सेवाओं के संबंध में जानकारी साझा की गई। एनीमिया के कारण और समाधान के साथ ही इससे होने वाली परेशानियों के संबंध में भी लोगों को जागरूक किया गया। साथ ही पोषण तथा पौष्टिक आहार के स्त्रोत एवं लाभ के बारे में भी जानकारी दी गयी। इसके अलावा स्थानीय स्तर पर उपलब्ध विभिन्न खाद्यान्न तथा सब्जियों के अधिक से अधिक गुणवत्तापूर्ण उपयोग कैसे कर सकें, इसके लिए महिलाओं में पोषण थाली प्रतियोगिता आयोजित किया गया।

 

इसके साथ ही 5 वर्ष उम्र तक के बच्चों के वजन, ऊँचाई तथा पोषण स्तर को मापा गया और शिशु एवं छोटे बच्चों को खिलाने के लिए काउंसलिंग तथा जच्चा- बच्चा स्वास्थ्य सुरक्षा कार्ड का उपयोग करके माताओं को टीकाकरण का स्तर जाँचना भी सिखाया गया। ये सभी कार्यक्रम अदाणी फाउंडेशन की टीम और सुपोषण संगिनियों ने एकीकृत बाल विकास सेवा, महिला बाल विकास तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के साथ मिलकर किया। अंत में विभिन्न प्रतियोगिताओं के प्रतिभागियों को पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया गया।

 

अदाणी फाउंडेशन के बारे में:

 

1996 में स्थापित, अदाणी फाउंडेशन वर्तमान में 18 राज्यों में सक्रिय है, जिसमें देश भर के 2250 गाँव और कस्बे शामिल हैं। फाउंडेशन के पास प्रोफेशनल लोगों की टीम है, जो नवाचार, जन भागीदारी और सहयोग की भावना के साथ काम करती है। वार्षिक रूप से 3.2 मिलियन से अधिक लोगों के जीवन को प्रभावित करते हुए अदाणी फाउंडेशन चार प्रमुख क्षेत्रों- शिक्षा, सामुदायिक स्वास्थ्य, सतत आजीविका विकास और बुनियादी ढा़ंचे के विकास, पर ध्यान केंद्रित करने के साथ सामाजिक पूंजी बनाने की दिशा में काम करता है। अदाणी फाउंडेशन ग्रामीण और शहरी समुदायों के समावेशी विकास और टिकाऊ प्रगति के लिए कार्य करता है, और इस तरह, राष्ट्र-निर्माण में अपना योगदान देता है।