आदिवासी संघ के पदाधिकारियों का हुआ शपथ व पीएससी में चयनित आदिवासी समाज के युवाओं का किया गया सम्मान* *प्रतियोगी परीक्षाओं के इंटरव्यू में आदिवासियों के साथ होता है भेदभाव -आर.एन. ध्रुव*

जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज
छत्तीसगढ़ राज्य के आदिवासी समाज के अधिकारियों और कर्मचारियों की मज़बूत और कुशल नेतृत्व करने वाली संगठन अनूसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ जिला उत्तर बस्तर कांकेर के नवीन कार्यकारिणी और सभी ब्लाकों के नये पदाधिकारियों का शपथ ग्रहण एवं पीएससी में चयनित आदिवासी समाज के प्रशासनिक अधिकारियों का सम्मान समारोह गोड़वाना भवन भीरावाही कांकेर छत्तीसगढ़ में संपन्न हुआ।
कार्यक्रम की शुरुआत आदिशक्ति बुढादेव की सेवा अर्जी और संविधान निर्माता बाबा साहेब अंबेडकर जी पुजा-अर्चना से हुआ। शपथ ग्रहण समारोह के मुख्य अतिथि श्री नीलकंठ टेकाम जी आईएएस संचालक कोष एवं लेखा छ.ग. शासन, अध्यक्षता श्री आर.एन. ध्रुव प्रांताध्यक्ष अनूसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ, विशिष्ट अतिथिद्वय श्री अकबर कोर्राम सेवानिवृत्त डीआईजी, श्री सहदेव ठाकुर कार्यपालक निदेशक छ.ग. राज्य विद्युत कंपनी मर्यादित जगदलपुर, श्री सदेसिंह कोमरे उप प्रातांध्यक्ष,श्री मोहन कोमरे प्रांतीय महासचिव, कमलेश ध्रुव प्रांतीय उपाध्यक्ष, जयसिंह राज ,जयपाल सिंह ठाकुर सचिव,गजलू पोडियाम, मंगलू कश्यप, सुरेंद्र कुमार भोई, मनहरण चंद्रवंशी, भरत लाल मारको, सोमेश्वर पात्र प्रांतीय सदस्य, आर सी ध्रुव जिला अध्यक्ष बिलासपुर, आसकरण धुर्वे जिला अध्यक्ष कबीरधाम, नेपाल सिंह सिदार जिला अध्यक्ष रायपुर, श्रीराम ध्रुव जिला अध्यक्ष बलोदा बाजार, अशोक उसेंडी जिला अध्यक्ष नारायणपुर, जगबंधु मांझी जिला अध्यक्ष बीजापुर, मासा कुंजाम जिला अध्यक्ष दंतेवाड़ा, डीएस नेताम जिला अध्यक्ष बस्तर, एसपी ध्रुव जिला अध्यक्ष महासमुंद, मनमोहन सिंह गोंड़ जिला अध्यक्ष जांजगीर चांपा, हरेंद्र नेताम जिला अध्यक्ष दुर्ग, अकत ध्रुव जिला अध्यक्ष मुंगेली, सुमेर सिंह नाग, डमरूधर मांझी की उपस्थिति में संपन्न हुआ। सभी अतिथियों का जिला पदाधिकारियों द्वारा भव्य स्वागत किया गया।
मुख्य अतिथि श्री नीलकंठ टेकाम जी द्वारा संगठन की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि आज प्रत्येक सदस्य को संगठन से जुड़कर एक दिन का वेतन अनिवार्य रूप से संगठन के खाते में जमा करना चाहिए।साथ ही समाज को भी इसमें शामिल करना बहुत जरूरी हैं। टेकाम जी के द्वारा पीएससी में चयनित अधिकारियों को प्रशासनिक सेवा में किस प्रकार से अच्छी पकड़ बनाई जाती है, अपने आप को कैसे स्थापित कर सकते है के बारे में बहुत विस्तार से जानकारी दिये।
संघ के प्रांताध्यक्ष आर.एन. ध्रुव जी ने पदोन्नति में 32% आरक्षण के मामले में हाईकोर्ट में चल रही याचिका की जानकारी दिए । पीएससी में चयनित सभी डीएसपी एवं उप जिलाधीश अधिकारियों को संगठन की ओर से हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आदिवासी समाज में प्रतिभाओं की कमी नहीं है जरूरत है उन्हें सही अवसर प्रदान करने की और आज हमारे समाज के युवाओं ने यह करके दिखा दिया। श्री ध्रुव जी ने कहा कि पीएससी और यूपीएससी में साक्षात्कार के समय आदिवासियों के साथ भेदभाव होता है जिसके कारण लिखित में अधिक नंबर वाले आदिवासी समाज के प्रतिभाशाली प्रतिभागियों को इंटरव्यू में कम नंबर दे दिए जाते हैं । उन्होंने कहा संगठन द्वारा यूपीएससी एवं पीएससी सहित अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में इंटरव्यू सिस्टम समाप्त करने की मांग प्रमुखता से करेगी जिससे आदिवासी समाज के प्रतिभाओं को इन प्रतियोगी परीक्षाओं में बराबर का अवसर प्राप्त हो सके। संघ के उप प्रातांध्यक्ष सदेसिंह कोमरे ने कहा की किसी संघ से जुड़ने और पदाधिकारी के रूप मिलने वाली जिम्मेदारी और निर्वाहन करने की प्रतिबद्धता के बारे अपने विचार रखे। श्री को राम जी ने कहा कि हमें 5 एम मनी, मीडिया, माइंड, मोरल और मैनेजमेंट फार्मूला पर काम करना होगा । उन्होंने प्रतिमा संगठन को एक हजार रुपये सहयोग प्रदान करने की घोषणा किये। श्री कमलेश ध्रुव जी ने कहा कि स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में आदिवासी वर्ग के युवा बेरोजगारों को अवसर नहीं मिलने के कारण रोजगार से वंचित हो रहे हैं ।उन्होंने कहा कि महासमुंद में जिले में जिस तरह स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम में असंवैधानिक भर्ती पर रोक लगी है । उसी तरह गैर सवैंधानिक ढंग से किए जा रहे सभी स्थानों के भर्ती पर रोक लगाई जावे।
जिलाध्यक्ष देवलाल दुग्गा के द्वारा संघ की संगठनात्मक गतिविधियों और आंदोलनों में जिले की भूमिका तथा कांकेर जिले की रणनीतियों के बारे में बताया गया।
अजजाशासेवि संघ के महासचिव विजय नाग के द्वारा संघ का प्रतिवेदन पढ़कर सुनाया गया। संघ के प्रथम अध्यक्ष से लेकर वर्तमान कार्यकारिणी के कार्यों की विस्तृत जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि आज संघ के कार्यप्रणाली से सभी आदिवासी अधिकारी कर्मचारियों में एक आशा की किरण जागी है और लोग संघ की सदस्यता ग्रहण कर रहे हैं। कांकेर जिले में संघ की सदस्य संख्या 1340 है। भविष्य में शत-प्रतिशत आदिवासी अधिकारी कर्मचारी को संघ की सदस्य बनने का लक्ष्य रखा गया।
कार्यक्रम को सभी जिलाध्यक्षों और प्रदेश स्तर के पदाधिकारियों ने भी संबोधित किया। सबने कहा अनूसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ की ओहदा और गरिमा प्रदेश के साथ साथ देश में भी ऊंचा हुआ है। संगठन छत्तीसगढ़ प्रदेश में कार्यरत् आदिवासी समाज के अधिकारियों और कर्मचारियों के हक और मांगों को शासन के समक्ष रखने का एक सशक्त माध्यम हैं।
इस वर्ष छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग चयन परीक्षा में चयनित आदिवासी समाज के गौरव और बस्तर संभाग के होनहार नये प्रशासनिक अधिकारियों को कार्यक्रम में सम्मानित गया। जिसमें प्रमुख अजय मोड़ियाम उप जिलाधीश, सुमीत बघेल उप जिलाधीश, स्निग्धा सलामे उप पुलिस अधीक्षक, कृतिका प्रधान अधीनस्थ लेखा अधिकारी, बिहारी सलाम सहायक जेल अधीक्षक, क्रांति ठाकुर वाणिज्यिक कर निरीक्षक, राजकुमार उसेन्डी बाल विकास परियोजना अधिकारी, योगिता पाथरे नायब तहसीलदार, तनुजा मांझी सी.ई.ओ.जनपद पंचायत, कृतिका प्रधान अधीनस्थ लेखा सेवा अधिकारी, तनुजा मांझी सी.ई.ओ.जनपद पंचायत, मधु तेता उप पुलिस अधीक्षक की अनूसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ जिला उत्तर बस्तर कांकेर के द्वारा सभी को सम्मानित करके स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। मुख्य अतिथि, प्रांताध्यक्ष, विशिष्ट अतिथिद्वय और प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारियों को भी स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। शपथ ग्रहण समारोह में शपथ लेने वाले प्रमुख जिला अध्यक्ष देवलाल दुग्गा, उपाध्यक्ष शकुंतला तारम, रामप्रसाद नेताम, पी. आर.कुंजाम, जिला महासचिव विजय कुमार नाग, सचिव बिरझू कवाची, संतोष दुग्गा संयुक्त सचिव, सुरेश कोरेटी, लखन जुर्री, तारा पोटाई, उमा कुड़ियाम, छेदी राम नेताम, कोषाध्यक्ष महेश मरकाम, कार्यकारिणी सदस्य धनराज वट्टी, श्यामकुमारी मरकाम, मानूराम मंडावी, आशीष पवार, किशुन हिचामी, नेमचंद कांगे, अशोक गोटे, थानसिंह नेताम, धरमराज कोरेटी, किरण कुमार भंडारी, रैनूराम हिड़को, रामसाय बघेल, श्याम लाल दुग्गा, रामदयाल आँचला, सतीश कुमार ठाकुर, मिडिया प्रभारी कमलेश कुमार गावड़े, दिनेश कुमार नाग और समस्त ब्लाक अध्यक्ष एवं पदाधिकारी गण प्रमुख हैं।
उक्ताशय की जानकारी कमलेश गावड़े, मीडिया प्रभारी, अनूसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ जिला उत्तर बस्तर कांकेर के द्वारा दिया गया।