– बच्चों को मिला रहा निःशुल्क विधि की शिक्षा का लाभ

जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज

– प्रदेश का पहला जिला रायपुर जहॉं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रात्रिकालीन निःशुल्क न्याय कक्ष का आयोजन कर रहा है।

रायपुर। देशभर में 2 अक्टूबर को पैन इण्डिया आउटरिच एण्ड अवेयरनेश प्रोग्राम का शुभारंभ नई दिल्ली के विज्ञान भवन से भारत के महामहिम राष्ट्रपति तथा सर्वाेच्च न्यायालय के मुख्य न्यायमूर्ति द्वारा किया गया था।
उक्त अभियान के अनुसरण में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायपुर के अध्यक्ष एवं जिला एवं सत्र न्यायाधीश माननीय श्री अरविन्द कुमार वर्मा व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव प्रवीण मिश्रा के मार्गदर्शन में सम्पूर्ण रायपुर जिले में रात्रिकालीन निःशुल्क न्याय कक्ष का आयोजन किया जा रहा है

इस प्रकार के कक्ष का मूल उद्देश्य हर वर्ग तक विधि के ज्ञान को प्रेषित करना है। विशेषरुप से इन कक्षाओं के माध्यम से उन स्थानों को चयनित किया गया है जो संसाधनों के अभाव में उक्त विषयों की जानकारी प्राप्त नही कर पा रहें है। दिनभर रोजी मजूदरी करने के कारण विधिक शिविर मे दिन के समय शामिल नही हो पा रहे। उक्त कक्षाओेें में बच्चों को निःशुल्करुप से पैन पैन्सिल उपलब्ध कराये जा रहे है।
बच्चों को मौलिक अधिकार, मौलिक कर्त्तव्य, निःशुल्क शिक्षा का अधिकार आदि विषयों के अतिरिक्त गुड टच तथा बैड टच की जानकारी प्रदान की जा रही है।
वही न्याय की कक्ष में उपस्थित होने वाली महिलाओं तथा पुरुषों को धरेलू हिंसा से महिलाओं का संरक्षण अधिनियम, हमर अंगना तथा करुणा योजना के साथ-साथ राज्य तथा केन्द्र की लाभकारी विभिन्न योजनाओं की जानकारी प्रदान की जा रही है। इस कार्याक्रम मे विधि के छात्र तथा छात्राऐं एवं पैरा लीगल वॉलिन्टियर्स भाग ले रहे है। कुमारी सुहासिनी सिंह, श्री आशुतोष तिवारी, श्री रामप्रसाद जायसवाल एवं अन्य विधि के छात्र तथा छात्राऐं अपनी निःशुल्क सेवा प्रदान कर रहे है। उक्त अभियान के माध्यम से लगभग 150 से अधिक रात्रिकालीन न्याय कक्ष का आयोजन किया जा चुका है जिसमें लगभग 5000 से अधिक बच्चो तथा महिला, पुरुषो को सीधा लाभ प्राप्त हुआ।