सेल्फ डिफेंस के साथ बच्चियों में जागरूकता ला रही हैं ,,‌ राधिका हिडको

जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज
आदिवासी अंचल के विकासखण्ड डौण्डी के शा. पूर्व माध्य. शाला पुसावड़ में दस दिवसीय सेल्फ डिफेंस प्रशिक्षण शिविर का आयोजन कराटेमें नेशनल गोल्ड मेडल जीत चुकी राधिका हिडको द्वारा आयोजित किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण शाला के सहयोग से छात्र-छात्राओं में आत्मरक्षा के प्रति जागरूकता एवं आत्मरक्षा के विभिन्न पहलुओं को सिखाया जा रहा हैं। राधिका हिड़को ने कहा कि आत्मरक्षा तकनीक सभी के जीवन
में महत्वपूर्ण होता हैं,तथा मानसिक एवं शरीरिक रूप से तैयार रखता है,जो किसी भी समय लोगों को

जैसे संगीन अपराध में काफी वृद्धि हुई हैं। जिसमे छोटी-छोटी बच्चियाँ भी छूटी नहीं हैं। अपराध होने के बाद समाज एवं लोगों के बदनामी से बचने के लिए पुलिस सहायता से वंचित रह जाती हैं जो पूर्णतः गलत | मेरा मानना हैं कि अपराध को होने | के पूर्व रोका जा सकता हैं । प्रत्येक लड़की को बचपन से ही अपने | आत्मरक्षा की तकनीक जाननी चाहिए. | एवं आत्मरक्षा को जीवन का अंग बनाकर | “फिटनेस एण्ड उसका उपयोग करें तो समाज को दशा और दिशा देने में कारगर साबित होगा दस दिवसीय कार्यक्रम मेंंं शासकीय पूर्वमाध्यमिक शाला के प्रधान पाठक एके चंद्राकर टीएस साहू कमल लाल साहू के सहयोग से छात्र छात्राओं को आत्मरक्षा के गुण सिखानेे में भरपूर सहयोग रहा