मेरी इच्छा सबको शिक्षा…कलम से क्रांति की मुहिम महामारी के दौर में छात्रों में लाई क्रांति।*

बालोद जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज

गोंडवाना स्टूडेंट्स युनियन के शिक्षा प्रकोष्ठ प्रदेशाध्यक्ष डिगेंद्र ठाकुर सैंकड़ों विद्यार्थियों को नि:शुल्क करा रहें प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी
कोरोना महामारी के इस दौर में जहाँ शिक्षा इतनी प्रभावित हुई हैं वहीं शिक्षा के स्तर को बेहतर बनाने की मुहिम प्रारंभ हो चुका हैं। ऐसे परिस्थिति में एक ओर शिक्षा में बढ़ती महंगाई तथा दूसरी ओर हमारे बीच एक ऐसे व्यक्तित्व हैं जिन्होंने नि शुल्क शिक्षा प्रदान कर ऐसे विद्यार्थियों की सहायता प्रदान कर रहे हैं, जो विद्यार्थी इस महामारी में अपने घरों से बाहर जाने और विभिन्न संस्थाओं में प्रवेश लेने से वंचित रह गए हैं कारण यह कोरोना महामारी हो या आर्थिक समस्या, सभी जरूरतमंदों को लाइव कक्षा के माध्यम से नि शुल्क शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। गुगल मीट में संचालित मेरी इच्छा सबको शिक्षा के इस मुहिम के साथ सभी प्रकार के प्रतियोगी परीक्षाओं हेतु विभिन्न विषय पर तथा स्कूल की गणित, विज्ञान, अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान की कक्षाएं प्रत्येक दिन आयोजित किया जाता हैं।
*गोंडवाना स्टूडेंट्स युनियन के प्रदेशाध्यक्ष एवं संस्था के संचालक डिगेंद्र ठाकुर* जो कि सोरर के मुलनिवासी हैं उन्होनें इस महामारी के बीच स्कूली छात्र एवं प्रतियोगी परीक्षाओं के विद्यार्थियों के गंभीर समस्याओं पर गहन विचार कर यह कदम उठाया गया हैं। प्रोजेक्टर, कंप्युटर एवं मोहल्ला क्लास के माध्यम से महामारी से अभी तक लगातार आनलाइन एवं आफलाइन कक्षा के माध्यम से 700 से अधिक छात्रों को 250 दिनों से अधिक नि:शुल्क क्लास दे चुके हैं एवं वर्तमान में निरंतर जारी हैं जिसमें सीजी पीएससी, सीजी व्यापम, सीजी पुलिस, एसएससी, बैंकिंग, रेल्वे जैसी प्रमुख प्रतियोगी की महत्वपूर्ण तैयारी कराया जा रहा हैं।
संस्था के प्रमुख लिलेश्वर, प्रणव, प्रफुल्ल, साकेत, पावस, गजेंद्र, तामेश्वर ठाकुर एवं संस्था का एक मात्र उद्देश्य यह हैं मेरी इच्छा सबको शिक्षा कलम से क्रांति लाने की मुहिम इस कोरोना महामारी के काल में सभी विद्यार्थियों तक शिक्षा का प्रसार सुगमता पूर्वक एवं शिक्षा के स्तर में गुणवत्ता सुदृढ़ निरंतर बनी रहें एवं विद्यार्थियों की किसी भी प्रकार की समस्या या दुविधा को दूर करने के लिए विद्यार्थी गुगल मीट में ग्रुप स्टडी एवं चैट के माध्यम से शिक्षकों द्वारा मदद करते हैं।
*नवोदय एवं प्रयास विद्यालय में कक्षा 6वीं एवं 9वीं में छात्र- छात्राओं को करा चुके हैं सेलेक्शन* तथा संस्था द्वारा विभिन्न गांवों में प्राथमिक एवं मिडिल के छात्र-छात्राओं को महामारी के दौर में घरों एवं भवनों में अस्थाई कक्षा लगाकर छात्रों के बेसिक शिक्षा में फोकस करके गांवों में साफ-सफाई सामाजिक चेतना, कैरियर गाइडलाइन्स जैसे संबंधित जागरूकता एवं भविष्य के बेहतर निर्माण के लिए योजनाबद्ध तरीके से शिक्षित किया जा रहा हैं।