कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत के प्रभार वाले निकाय खैरागढ़ के दस वार्डों में कांग्रेस का कब्ज़ा*

जिवराखन लाल उसारे छत्तीसगढ़ ग्रामीण न्युज
30 सालों बाद भाजपा के गढ़ पर कांग्रेस की सेंध

आज छत्तीसगढ़ के नगरीय निकायों के चुनाव में परिणाम घोषित हुआ, जैसी कि उम्मीद थी इसमें कांग्रेस ने जीत का परचम लहराया है। इसमें कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत के प्रभार वाले निकाय खैरागढ़ के दस वार्डों में कांग्रेस का कब्ज़ा हुआ। खैरागढ़ की 20 सीटों में से वार्ड नं.01 से श्रीमती टिकेश्वरी पटेल, वार्ड नं.02 शैलेंद्र वर्मा, वार्ड नं.03 दिलीप राजपूत, वार्ड नं. 04 सुमित टांडिया, वार्ड नं.05 श्रीमती सुमन दयाराम पटेल, वार्ड नं.09 से दीपक देवांगन, वार्ड नं.13 पुरुषोत्तम वर्मा, वार्ड नं.15 से शत्रुघ्न धृतलहरे गुड्डू, वार्ड नं.18 से अब्दुल रज्जाक खान, वार्ड नं.20 से दिलीप लहरे 27 ने कांग्रेस के टिकट पर जीत हासिल की।
मंत्री अमरजीत भगत ने इस जीत पर कहा, “कांग्रेस के सभी विजेता प्रत्याशियों और कांग्रेस के समर्पित कार्यकर्ताओं को इस शानदार जीत की बहुत-बहुत बधाई। यह जीत कांग्रेस के कर्मठ और सेवाभावी कार्यकर्ताओं की मेहनत और लगन एवं जनता के माननीय मुख्य़मंत्री श्री भूपेश बघेल जी पर विश्वास की जीत है”
मंत्री अमरजीत भगत पूरे छत्तीसगढ़ के निकाय चुनाव में कांग्रेस की ज़बरदस्त जीत पर उत्साहित थे। उन्होंने इसका श्रेय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर जनता के विश्वास को दिया। उन्होंने कहा, “छत्तीसगढ़ की जनता को पता है कि माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी जो कहते हैं वो करते हैं। उन्होंने किसानों और आदिवासियों के उत्थान के लिये नई-नई योजनाएँ शुरू की। उनके कार्यों से प्रदेश के सभी वर्गों का फायदा हो रहा है। इसी विश्वास ने कांग्रेस को जीत तक पहुँचाया है।”
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने खैरागढ़ में रोड-शो व आम सभा की थी और लोगों से मिलकर उनकी समस्याएँ एवं मांगों पर चर्चा भी की। साथ ही खैरागढ़ का निकाय का प्रभार मिलने के बाद मंत्री अमरजीत भगत ने भी यहाँ का सघन दौरा किया था। लगातार लगभग 12 दिनों तक वे खैरागढ़ पहुंचकर कांग्रेस प्रत्याशियों के पक्ष में प्रचार किया और विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए। साथ ही वार्ड-वार्ड घर-घर जाकर लोगों से मुलाकात कर कांग्रेस के पक्ष में मतदान की अपील की थी।