श्रद्धालुओं के लिए अदाणी फाउंडेशन ने माँ चन्द्रहासिनी मंदिर में निःशुल्क चिकित्सा शिविर लगाया

Spread the love

 

चंद्रपुर; 26 सितंबर 2022: शारदीय नवरात्र के पावन अवसर पर रायगढ़ जिले के पुसौर ब्लॉक में स्थित चंद्रपुर की प्रसिद्ध माँ चन्द्रहासिनी देवी मंदिर में अदाणी फाउंडेशन द्वारा निःशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर का आयोजन किया गया। नवरात्र में देवी के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओ एवं भक्तो को आकस्मिक स्वास्थ्य उपचार की जरुरत पड़ने पर प्रथम चिकित्सा सुविधा त्वरित उपलब्ध कराने के उद्देश्य से लगाए गए इस शिविर की शुरुआत सोमवार से की गयी। रायगढ़ एनर्जी जनरेशन लिमिटेड (आरईजीएल) के सौजन्य से दिनांक 26 सितंबर से 2 अक्टूबर 2022 तक रोजाना प्रातः 11 बजे से शाम 5 बजे तक चलने वाले इस सात दिवसीय चिकित्सा शिविर का आयोजन चन्द्रहासिनी देवी मंदिर के श्री गोपाल जी महाप्रभु एवं सार्वजनिक न्यास के अध्यक्ष श्री गोविंद अग्रवाल जी एवं समस्त न्यासी के विशेष सहयोग से किया जा रहा है।

शिविर का शुभारंभ माँ चंद्रहासिनी सार्वजनिक न्यास के सदस्य श्री पूनम चंद अग्रवाल, शरद अग्रवाल, श्यामसुंदर देवांगन, नीलाम्बर देवांगन, मनसुखा वैश्णव, अजीत पाण्डेय एवं आरईजीएल के ऑपरेशन एवं मेंटेनेंस प्रमुख श्री शशधारा दास, मानव संसाधन प्रमुख श्री घनश्यामदास गर्ग, पर्यावरण स्वास्थ्य और सुरक्षा प्रमुख श्री संग्राम कानूनगो की गरिमामयी उपस्थिति में संपन्न हुआ। इस उपलक्ष्य में समिति के को कोषाध्यक्ष श्री अजीत पाण्डेय जी ने कहा कि,”अदाणी फाउंडेशन का यह एक सराहनीय कदम है, इससे माता के दर्शन हेतु आने वाले श्रद्धालुओं को समय पर प्राथमिक चिकित्सा सुविधा मिल पायेगी।” शिविर में श्रद्धालुओं को चिकित्सा सुविधा डा. रमाशंकर पटेल (एम.बी.बी.एस.) एवं मेडिकल स्टाफ द्वारा परामर्श, उपचार के पश्चात निःशुल्क दवा भी प्रदान की जा रही है।

शिविर का नेतृत्व कर रहे अदाणी फाउंडेशन के सी.एस.आर. हेड श्री पुर्णेन्दु कुमार ने बताया कि “आरईजीएल के आसपास के ग्रामों में सामाजिक सरोकारों के अंतर्गत शिक्षा, स्वास्थ्य, बुनियादी ढांचो का विकास एंव स्थायित्व विकास के कार्यो हेतु दृढ संकल्पित है एवं इसी क्रम में नवरात्र के शुभ अवसर पर इस शिविर का आयोजन श्रद्धालुओं एवं सभी भक्तों को बेहतर चिकित्सा सुविधा प्रदान करने हेतु किया जा रहा है। आज के शिविर में दोपहर 3 बजे तक लगभग 80 श्रद्धालुओं द्वारा चिकित्सा लाभ लिया जा चुका है वहीं शाम तक संख्या 100 से अधिक होने की संभावना हैं।” कार्यक्रम को आयोजित करने में अदाणी फाउण्डेशन के श्री विवेक पाण्डेय, श्री परमेश्वर गुप्ता एवं श्री नीलेष महाराणा का विशेष योगदान प्राप्त हो रहा है। वहीं कार्यक्रम की व्यवस्था एवं देखरेख स्व मुकुटधर पाण्डेय स्मृति सेवा समिति चंद्रपुर के द्वारा किया जा रहा है।

माँ चन्द्रहासिनी देवी का यह प्रसिद्ध मंदिर, वर्तमान में नव गठित जिला सारंगढ़ से 20 कि.मी. और रायगढ़ से लगभग 30 कि.मी. की दूरी पर स्थित, डभरा तहसील में मांड नदी, लात नदी और महानदी के संगम पर चन्द्रपुर में स्थित है। यह मंदिर देश के सिद्ध शक्तिपीठों में से एक है। मां दुर्गा के 52 शक्तिपीठों में से एक स्वरूप मां चंद्रहासिनी के रूप में विराजित है। चन्द्रमा की आकृति जैसा मुख होने के कारण इसकी प्रसिद्धि चंद्रहासिनी और चंद्रसेनी माँ के नाम से जानी जाती है। यहाँ बने पौराणिक व धार्मिक कथाओं की झाकियां समुद्र मंथन, महाभारत की द्यूत क्रीड़ा आदि, माँ चंद्रहासिनी के दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं का मन मोह लेती है। नवरात्र के अवसर पर यहां भक्तों द्वारा मनोकामना पूर्ति हेतु ज्योति कलश प्रज्जवलित करने की परंपरा चली आ रही है।